त्रिपुरा से इंदौर तक:मैदान खेल का हो या राजनीति का खुद कोई नहीं हारता, पिच या परिस्थितियाँ ही हार का कारण बनती हैं

Source: DainikBhaskar.com

Related posts