एमपी से आई तस्वीर और परिवर्तन का इशारा, सचिन पायलट पर यूं ही नहीं फट पड़े सीएम गहलोत… पढ़िए इनसाइट स्टोरी – Navbharat Times

जयपुर: राजस्थान की राजनीति में 25 सिंतबर की घटना के बाद हर दिन कुछ न कुछ हो रहा है। इस दिन गहलोत गुट के विधायकों ने बगावती तेवर दिखाते हुए इस्तीफे विधानसभा अध्यक्ष को सौंप दिए थे। इस घटना से राजस्थान कांग्रेस की काफी किरकिरी हुई। सीएम अशोक गहलोत ने इसके लिए पार्टी के शीर्ष नेतृत्व में माफी मांगी। इसके बाद कुछ दिन तक मामला शांत रहा। लेकिन आज मुख्यमंत्री अशोक गहलोत एक बार फिर सचिन पायलट को लेकर ‘फट’ पड़े। गहलोत ने आज सचिन पायलट को फिर गद्दार करार दिया और कहा कि वह पायलट को कभी सीएम स्वीकार नहीं कर सकते हैं। पिछले कई दिनों से शांत दिख रहे अशोक गहलोत का सचिन पायलट के खिलाफ यूं मोर्चा खोलने से राजस्थान कांग्रेस में बड़ा फेरबदल तय माना जा रहा है।

सीएम अशोक गहलोत ने सचिन पायलट के खिलाफ ऐसे समय मोर्चा खोला है, जब राहुल गांधी की पड़ोसी राज्य मध्य प्रदेश में भारत जोड़ो यात्रा चल रही है। राहुल गांधी की यात्रा एमपी से होते हुए राजस्थान आने वाली है। आज की यात्रा में राहुल गांधी के साथ उनकी बहन प्रियंका गांधी वाड्रा और उनके पति राबर्ट वाड्रा भी मौजूद रहे। लेकिन गहलोत आज सचिन पायलट पर क्यों ‘फट’ पड़े? इसकी वजह सामने आई एक तस्वीर को माना जा रहा है। दरअसल ये तस्वीर है सचिन पायलट की। एमपी में चल रही राहुल गांधी की यात्रा में आज सचिन पायलट भी शामिल हुए। इस तस्वीर में पायलट, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के साथ नजर आए।

‘राहुल-प्रियंका का उठता हर कदम परिवर्तन की ओर इशारा’
बात सिर्फ इतनी ही नहीं है। माना जा रहा है कि सचिन पायलट ने इस तस्वीर को लेकर जो ट्वीट किया, उससे सीएम गहलोत के मन में खलबची मच गई और उन्होंने पायलट को गद्दार करार दे दिया। दरअसल पायलट ने ट्वीट करते हुए लिखा- ‘भारत जोड़ो यात्रा का आज एक नया दिन परंतु देश जोड़ने का संकल्प व जोश वही। मध्य प्रदेश के बोरगांव से आज आरंभ हुई भारत जोड़ो यात्रा में सम्मिलित हुआ। राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के साथ उठता हर कदम एक सकारात्मक परिवर्तन की ओर इशारा करता है।’

प्रियंका-राहुल ने किए थे पायलट से कुछ वादे
दरअसल 2020 में सचिन पायलट ने अशोक गहलोत के प्रति नाराजगी जताते हुए अपने गुट के विधायकों के साथ बगावत की थी। माना जा रहा था कि सिंधिया की देखा देखी पायलट भी बीजेपी में चले जाएंगे। इस बीच प्रियंका गांधी एक्टिव हुईं और उन्होंने राहुल गांधी से पायलट की मुलाकात कर मामले को शांत कराया। माना जाता है कि उस समय पायलट के प्रियंका गांधी और राहुल गांधी ने कुछ वादे किए थे। लेकिन अभीतक उन वादों पर कोई अमल नहीं हो सका है। इस बीच पायलट के ट्वीट को राज्य में होने वाले परिवर्तन से जोड़कर देखा जा रहा है।

Related posts