मनीष सिसोदिया: राष्‍ट्रपति से मंजूरी लेकर CBI ने दर्ज की थी FIR, अब रेड में मिले दस्‍तावेज खंगाल रहे अफसर – Navbharat Times

नई दिल्‍ली: केंद्रीय जांच एजेंसी CBI ने उप मुख्‍यमंत्री मनीष सिसोदिया के खिलाफ मुकदमा लिखने से पहले राष्‍ट्रपति से मंजूरी ली थी। राष्‍ट्रपति द्रौपदी मुर्मू की इजाजत के बाद सीबीआई ने 17 अगस्‍त को FIR दर्ज की। सीबीआई दिल्‍ली सरकार की आबकारी नीति 2021-22 में कथित अनियमितताओं की जांच कर रही है। किसी केंद्रशासित प्रदेश के विधायक की जांच करने के लिए राष्‍ट्रपति की अनुमति चाहिए होती है। इधर, रविवार सुबह सिसोदिया और आम आदमी पार्टी के कई नेताओं ने दावा किया कि जांच एजेंसी ने मामले में आरोपियों के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर (LOC) जारी कर दिया है। हालांकि, सीबीआई अधिकारियों ने इसकी पुष्टि नहीं की। न्‍यूज एजेंसी ANI से बातचीत में सीबीआई सूत्रों ने कहा कि ‘सर्कुलर प्रक्रिया में है, जल्‍द जारी हो सकता है।’ LOC जारी होने के बाद आरोपी देश छोड़कर नहीं जा सकेंगे। सिसोदिया ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर ट्विटर के जरिए हमला किया। दिल्‍ली के मंत्री ने लिखा, ‘मैं खुलेआम दिल्‍ली में घूम रहा हूं। बताइए कहां आना है? आपको मैं मिल नहीं रहा?’ सिसोदिया ने सीबीआई की छापेमारी से जुड़ा मोदी का एक पुराना बयान भी शेयर किया है।

17A: जिसकी वजह से सीबीआई को लेनी पड़ी राष्‍ट्रपति से इजाजत
दिल्‍ली के उप राज्‍यपाल वीके सक्‍सेना ने कथित घोटाले की सीबीआई जांच की सिफारिश की थी। सीबीआई को आबकारी विभाग देख रहे सिसोदिया की जांच करने के लिए राष्‍ट्रपति की मंजूरी चाहिए थी। प्रिवेंशन ऑफ करप्‍शन ऐक्‍ट की धारा 17ए के अनुसार, केंद्रशासित प्रदेशों के विधायकों की जांच के लिए राष्‍ट्रपति का अनुमोदन जरूरी है। आबकारी विभाग के अधिकारियों पर जांच की मंजूरी उप राज्‍यपाल देते हैं। हिंदुस्‍तान टाइम्‍स ने CBI के एक अधिकारी के हवाले से रिपोर्ट किया कि राष्‍ट्रपति कार्यालय से 17A के तहत मंजूरी मिलने के बाद, 17 अगस्‍त को सिसोदिया के खिलाफ FIR दर्ज की। एफआईआर के ठीक बाद सभी 13 नामित आरोपियों के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी कर दिए गए। अब इमिग्रेशन अथॉरिटीज अलर्ट हो गई हैं और इनमें से कोई विदेश यात्रा नहीं कर पाएगा।

दिल्‍ली में शराब के शौकीनों को लगेगा झटका, अगस्त के अंतिम दिनों में होगी शराब की किल्लत!

लुकआउट सर्कुलर पर सिसोदिया का पलटवार
सिसोदिया समेत बाकी आरोपियों के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी होने की खबर रविवार सुबह आई। सीबीआई के इस ऐक्‍शन पर सिसोदिया ने ट्विटर के जरिए केंद्र सरकार पर हमला किया। सिसोदिया ने अपने ट्वीट में कहा, ‘आपकी सारी रेड फेल हो गयी, कुछ नहीं मिला, एक पैसे की हेरा फेरी नहीं मिली। अब आपने लुकआउट नोटिस जारी किया है कि मनीष सिसोदिया मिल नहीं रहा। ये क्या नौटंकी है मोदी जी? मैं खुलेआम दिल्ली में घूम रहा हूं, बताइए कहां आना है? आपको मैं मिल नहीं रहा?’ सिसोदिया ने मोदी का एक पुराना वीडियो भी ट्वीट किया और लिखा कि ‘CBI छापों के बारे में मोदी जी के इस बयान को जरूर सुनें। अगर नहीं सुना तो आप एक बहुत बड़े सच को जानने से वंचित रह जाएंगे।’

दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया कि ‘केंद्र सरकार बेरोज़गारी और महंगाई से लड़ने के बजाय पूरे देश से लड़ रही है।’ केजरीवाल ने कहा कि ‘रोज सुबह उठकर CBI ED का खेल शुरू कर देते हैं।’

शराब घोटाला: सीबीआई खंगाल रही है कई रिकॉर्ड
मामले में शनिवार को सीबीआई ने 31 जगहों पर छापेमारी की थी। छापेमारी के घेरे में सिसोदिया के अलावा दिल्ली सरकार के कुछ अधिकारियों के ठिकाने भी थे। अब CBI अफसर बरामद कागजात और इलेक्ट्रॉनिक रिकॉर्ड को खंगाल रहे हैं। सभी को बुलाकर पूछा जाएगा कि वह सब किसके कहने पर किया गया? अधिकारियों के अलावा सिसोदिया को भी पूछताछ के लिए जल्द ही बुलाया जा सकता है। गिरफ्तारी से भी इंकार नहीं किया जा रहा है।

सिसोदिया का मतलब MONEY SHH…जब बीजेपी ने बताई सिसोदिया के नाम की नई स्पेलिंग

CBI छापों पर BJP-AAP में जुबानी जंग
दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया अपने यहां CBI छापे के अगले दिन मीडिया के सामने आए। सिसोदिया ने आरोप लगाया कि आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल को रोकने के लिए साजिश के तहत मेरे घर पर छापेमारी की गई। इन लोगों (केंद्र सरकार) की चिंता अरविंद केजरीवाल हैं, जो राष्ट्रीय स्तर पर विकल्प के रूप में उभरे हैं। साल 2024 का लोकसभा चुनाव मोदी बनाम केजरीवाल होगा। सिसोदिया ने दावा किया कि दो चार दिन में ये लोग मुझे गिरफ्तार कर लेंगे। वहीं, बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने केजरीवाल सरकार को ‘रेवड़ी और बेवड़ी’ की सरकार बताया। साथ ही, शराब घोटाले में सिसोदिया का नाम आने पर तंज कसा कि उनके नाम में मनीष की स्पेलिंग MONEY SHH हो गई है।

Related posts