Parliament Farmers Protest LIVE: राज्यसभा में TMC सांसद ने IT मंत्री अश्विनी वैष्णव के हाथ से कागज छीनकर फाड़े, मार्शलों के दखल के बाद शांत हुआ माहौल – Jansatta

Parliament Monsoon Session and Farmers Protest Today Live News Updates: दिल्ली पुलिस के सूत्रों ने बताया कि 200 किसानों का एक समूह पुलिस की सुरक्षा के साथ बसों में सिंघू सीमा से जंतर-मंतर आएगा और वहां पूर्वाह्न 11 बजे से शाम 5 बजे तक विरोध प्रदर्शन करेगा।

image
आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव पेगासस जासूसी मामले में जवाब देने के लिए उठे, लेकिन विपक्ष के विरोध के चलते सदन की कार्यवाही स्थगित हो गई। (फाइल फोटो)

Parliament Monsoon Session Live Updates: संसद का मानसून सत्र अब तक काफी हंगामेदार रहा है। आज तीसरे दिन भी विपक्ष की तरफ से कृषि कानूनों से लेकर, कोरोनावायरस महामारी और पेगासस प्रोजेक्ट पर जमकर हंगामा किया। कांग्रेस नेताओं ने तो संसद परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने ही कृषि कानून के विरोध में नारेबाजी की। इस प्रदर्शन में राहुल गांधी भी शामिल हुए। दूसरी तरफ सदन के अंदर भी विपक्ष के विरोध प्रदर्शन के चलते कार्यवाही आगे नहीं बढ़ पाई। यहां तक कि पेगासस जासूसी कांड पर बयान देने आए आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव तक बयान नहीं दे पाए और हंगामे के बाद राज्यसभा की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित हो गई।

न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक, राज्यसभा में कार्यवाही स्थगित हो जाने के बाद तृणमूल कांग्रेस के सांसद शांतनु सेन ने पेगासस मामले में बयान देने के लिए आए आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव के हाथों से कागज छीनकर फाड़ दिए। इस गहमागहमी के बीच भाजपा सांसद और टीएमसी सांसद आपस में उलझ गए। शांतनु सेन ने इस दौरान भाजपा सांसद हरदीप सिंह पुरी से भी जबरदस्त बहस की। हालांकि, मार्शलों के दखल के बाद स्थिति नियंत्रण में लाई गई।

दूसरी तरफ किसान संगठन भी गुरुवार से जंतर-मंतर पर भारी सुरक्षा के बीच कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन शुरू कर दिया। दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने 9 अगस्त तक अधिकतम 200 किसानों को प्रदर्शन की विशेष अनुमति दे दी है। गुरुवार को किसान बसों में भरकर 12 बजे के बाद सिंघु बॉर्डर से जंतर-मंतर पहुंचे। इस दल में भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत और सामाजिक कार्यकर्ता योगेंद्र यादव शामिल रहे। दिल्ली पुलिस ने बताया कि 200 किसानों का एक समूह पुलिस की सुरक्षा के साथ बसों में सिंघु सीमा से जंतर-मंतर आएगा और शाम 5 बजे तक विरोध प्रदर्शन करेगा।

इस बीच सीपीआई ने सुबह ही स्वास्थ्य राज्यमंत्री भारती प्रवीण पवार के खिलाफ राज्यसभा में विशेषाधिकार प्रस्ताव दिया है। दरअसल, पवार ने कहा था कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की तरफ से ऑक्सीजन की कमी से हुई मौतों की जानकारी नहीं दी गई। इसी को लेकर कांग्रेस समेत विपक्ष ने उनके खिलाफ प्रस्ताव लाने की बात कही थी।

Related posts