पूर्व आईजी कुंवर विजय प्रताप ‘आप’ में शामिल, केजरीवाल ने बताया पंजाब में कौन होगा मुख्यमंत्री का चेहरा? – Hindustan

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल की मौजूदगी में पंजाब के पूर्व आईजी कुंवर विजय प्रताप ‘आप’ में शामिल हो गए। उनके पार्टी में शामिल होने से पंजाब की राजनीति में पैर जमा रही आम आदमी पार्टी को और मजबूती मिल गई है।  

इस मौके पर केजरीवाल ने कहा कि कुंवर विजय प्रताप कोई राजनीतिज्ञ नहीं हैं। उन्हें ‘आम आदमी का पुलिसवाला’ कहा जाता था। हम सब यहां देश की सेवा करने के लिए हैं। इसी भावना के साथ वह आज ‘आप’ में शामिल हुए हैं। इस मौके पर पार्टी की राज्य इकाई के अध्यक्ष भगवंत मान ने केजरीवाल, राघव चड्ढा समेत वरिष्ठ नेता भी उपस्थिति थे।

मैं आज पंजाब के लोगों को ये विश्वास दिलाना चाहता हूं कि पंजाब में जब AAP की सरकार बनेगी तो हम बरगाड़ी कांड के दोषियों को सजा दिलाएंगे और पंजाब के लोगों को न्याय दिलवाएंगे। पंजाब के मुख्यमंत्री के बारे में पूछे जाने पर केजरीवाल ने कहा कि पंजाब के लिए आम आदमी पार्टी के सीएम उम्मीदवार सिख समुदाय से होंगे। यह कोई ऐसा व्यक्ति होगा जिस पर पूरा पंजाब गर्व महसूस करता है। 

उन्होंने कहा कि आज पंजाब बहुत बुरे दौर से गुजर रहा है। जब पूरा पंजाब कोरोना से परेशान था, तब यहां के सत्ताधारी पार्टी के नेता कुर्सी के लिए लड़ रहे थे। पंजाब में एक और पार्टी है जिनके ऊपर भ्रष्टाचार के आरोप लगे हुए हैं तो पंजाब में लोगों की समस्याओं का कौन समाधान निकालेगा।

कौन हैं कुंवर विजय प्रताप सिंह?

पूर्व आईपीएस अधिकारी कुंवर विजय प्रताप सिंह पंजाब में 2015 में कोटकपुरा पुलिस गोलीबारी कांड की जांच करने वाले विशेष जांच टीम का हिस्सा थे। फरीदकोट जिले में गुरु ग्रंथ साहिब की कथित बेअदबी के बाद 2015 में कोटकपुरा में हुई कथित गोलीबारी की घटना के बारे में पंजाब पुलिस की एसआईटी की रिपोर्ट को पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया था, जिसके बाद कुंवर विजय प्रताप सिंह ने अप्रैल में समय पूर्व रिटायरमेंट ले ली थी। वैसे वह 2029 में रिटायर होने वाले थे। सिंह कोटकपुरा की घटना और बेहबल कलां पुलिस गोलीबारी कांड की जांच करने वाले विशेष जांच टीम का हिस्सा थे। अदालत ने राज्य सरकार को मामले की जांच के लिए एक नए एसआईटी के गठन का निर्देश दिया था और कहा था कि उस दल में कुंवर विजय प्रताप सिंह को शामिल नहीं किया जाए। 

पंजाब बदलाव चाहता है, ‘आप’ एकमात्र उम्मीद  

गौरतलब है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को कहा था कि पंजाब में होने वाले आगामी विधानसभा चुनावों में राज्य के लोगों की एकमात्र उम्मीद ‘आम आदमी पार्टी’ (आप) है। केजरीवाल ने सोमवार के अपने पंजाब के दौरे को ध्यान में रख पंजाबी में ट्वीट कर कहा था, “पंजाब बदलाव चाहता है। आम आदमी पार्टी ही एकमात्र उम्मीद है।” 

उल्लेखनीय है कि केजरीवाल इस वर्ष सोमवार को दूसरी बार पंजाब दौरे पर हैं। ‘आप’ संयोजक का यह दौरा बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि हाल ही में पार्टी के पूर्व नेता सुखपाल सिंह खैरा के कांग्रेस पार्टी में शामिल होने से राज्य में पार्टी को धक्का लगा है। साल 2017 में हुए विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी (आप) ने अच्छा प्रदर्शन किया था और 2014 के लोकसभा चुनाव में यहां की चार लोकसभा सीटों पर जीत हासिल की थी। पंजाब में 2022 फरवरी या मार्च में विस चुनाव होने के आसार हैं।

Related posts