Delhi Hospital Oxygen News: रातभर दौड़ते रहे दिल्ली के अस्पताल, कहीं रात 1, कहीं 3, तो कहीं सुबह 5 बजे पहुंच पाई ऑक्सीजन – Navbharat Times

हाइलाइट्स:

  • दिल्ली के कई निजी और सरकारी अस्पताल ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहे हैं
  • एलजेपी, गंगाराम समेत कई अस्पताल ऑक्सीजन के लिए रातभर भटकते रहे
  • कहीं रात एक बजे, कहीं तीन, तो कहीं सुबह तक पहुंच पाई ऑक्सीजन
  • दिल्ली के अस्पताल अभी भी काम चलाने लायक ऑक्सीजन जुटा पाए हैं

नई दिल्ली
दिल्ली के कई अस्पतालों के लिए गुजरी हुई रात सांसें थाम देने वाली रही। ऑक्सीजन तेजी से खत्म हो रही थी और उसके इंतजाम में पूरी रात दौड़-भाग करते अस्पताल के अधिकारियों की धड़कनें हर पल बढ़ती जा रही थीं। राहत की बात यह रही कि दिल्ली के कई बड़े सरकारी और निजी अस्पतालों को बुधवार सुबह तक ऑक्सीजन की नई खेप आखिरकार मिल गई। हालांकि फौरी जरूरत जरूर पूरी हो गई हैं, लेकिन ऑक्सीजन का संकट अभी भी बना हुआ है।

गंगाराम में 3 बजे पहुंची ऑक्सीजन की खेप
अस्पताल के अधिकारियों के मुताबिक समय रहते ऑक्सीजन की आपूर्ति होने से बड़ा संकट टल गया। गंगाराम अस्पताल को निजी विक्रेताओं से तड़के तीन बजे से पहले 5,000 घन मीटर की ऑक्सीजन की आपूर्ति हुई। यह भंडार बुधवार दोपहर तक चलेगा। अन्य कंपनी से ऑक्सीजन की आपूर्ति की प्रतीक्षा की जा रही है। सर गंगाराम अस्पताल ने बुधवार सुबह बताया, ‘एक निजी विक्रेता कपिल एंटरप्राइजेज से 5,000 क्यूबिक मीटर्स ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए हमारी टीम रात भर संघर्ष करती रही और जरूरी नोजल की व्यवस्था पूरी कर ली गई। यह आपूर्ति दोपहर तक खत्म हो जाएगी।’












प्लांट से मरीज तक कैसे पहुंचती है ऑक्सीजन

मरीजों की अटकी हुई थीं सांसें
मंगलवार की देर रात सर गंगा राम अस्पताल के अध्यक्ष डी एस राणा ने अपने अस्पताल के आईसीयू में भर्ती कोविड -19 रोगियों के लिए ऑक्सीजन की तत्काल आवश्यकता की बात कही थी, साथ ही चेतावनी दी थी कि अगर तत्काल आपूर्ति नहीं की गई तो खतरा बढ़ सकता है। उन्होंने दिन के समय (मंगलवार को) संकट की चेतावनी दी थी, अस्पताल को ऑक्सीजन की कमी के कारण परेशानियों का सामना करना पड़ा। राणा के अनुसार, आईसीयू में लगभग 120 मरीज ऑक्सीजन पर ज्यादा निर्भर थे और उन्होंने चेतावनी दी थी कि अगर अस्पताल को समय पर ऑक्सीजन की आपूर्ति नहीं होती है, तो स्थिति गंभीर हो सकती है। अस्पताल में 485 कोविड -19 बेड हैं, जिनमें से 475 पहले से ही मरीजों से भरे हुए हैं।

कोरोना वायरस से जुड़ी हर खबर के लिए यहां क्लिक करें

गुरु तेग बहादुर अस्पताल में रात डेढ़ बजे आई ऑक्सीजन
गुरु तेग बहादुर अस्पताल के एक अधिकारी ने बताया कि एक कंपनी से भेजा गया ऑक्सीजन का ट्रक देर रात डेढ़ बजे उनके पास पहुंचा।

एलजेपी में सुबह 3 बजे हो पाई सप्लाई
लोकनायक जयप्रकाश नारायण अस्पताल के चिकित्सा निदेशक डॉ. सुरेश कुमार ने कहा कि एक विक्रेता से भेजा गया ऑक्सीजन का ट्रक तड़के तीन बजे अस्पताल पहुंचा।

आंबेडकर अस्पताल में सुबह 5 बजे पहुंची ऑक्सीजन
आंबेडकर अस्पताल को सुबह पांच बजे ऑक्सीजन की ताजा आपूर्ति हुई। अधिकारियों का कहना है कि यह आपूर्ति 24 घंटे तक चलेगी। दिल्ली में मंगलवार को कोरोना वायरस के रिकॉर्ड 28,395 मामले सामने आए और 277 लोगों की मौत के बाद महामारी की भयावह होती स्थिति सामने आई है।

वहीं संक्रमण की दर 32.82 प्रतिशत हो गई और शहर में ‘ऑक्सीजन का गंभीर संकट’ खड़ा हो गया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने हाथ जोड़कर मंगलवार को केंद्र से दिल्ली में ऑक्सीजन की आपूर्ति करने की अपील की थी और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि अगर बुधवार सुबह तक ऑक्सीजन की नये सिरे से आपूर्ति नहीं की गई तो शहर में हाहाकार मच जाएगा।
(इनपुट्सः भाषा, आईएएनएस)



Related posts