चुनाव आयोग: सर्वदलीय बैठक के लिए कोलकाता पहुंचे भाजपा नेता, बोले- प्रोटोकॉल का करेंगे पालन – अमर उजाला – Amar Ujala

अमर उजाला ब्यूरो, नई दिल्ली
Published by: देव कश्यप
Updated Fri, 16 Apr 2021 04:36 PM IST

ख़बर सुनें

विस्तार

चुनाव आयोग ने शुक्रवार को सर्वदलीय बैठक बुलाई है। सूत्रों के अनुसार, आयोग बैठक में रैलियों पर प्रतिबंध लगाने का प्रस्ताव रख सकता है। संविधान के अनुच्छेद-324 के तहत शांतिपूर्ण चुनाव कराने के लिए उसके पास यह अधिकार है। बड़ी रैलियों, रोड शो और जनसभाओं के बजाय वह राजनीतिक दलों से पांच या दस कार्यकर्ताओं के समूहों में सामाजिक दूरी बनाए रखते हुए डोर टू डोर प्रचार करने का प्रस्ताव रख सकता है। साथ ही डिजिटल और वर्चुअल तरीके से प्रचार जारी रहेगा। बता दें कि सर्वदलीय बैठक के लिए भाजपा नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल कोलकाता सर्किट हाउस पहुंच चुका है।

विज्ञापन

मुख्य चुनाव आयुक्त से बैठक के बाद पश्चिम बंगाल में भाजपा नेता स्वपन दास गुप्ता ने बताया कि हमने चुनाव आयोग को सुरक्षा मानदंडों के साथ-साथ लोकतांत्रिक संस्कृति का संतुलन बनाए रखने की सलाह दी है। अब चुनाव आयोग यह बताए कि राजनीतिक दलों को वास्तव में क्या करना चाहिए। हम उन्हें हर तरह के प्रोटोकॉल का पालन करने का आश्वासन दिया है। 

सूत्रों के अनुसार, बैठक में शामिल होने के लिए बंगाल के सभी राजनीतिक दलों को केवल एक प्रतिनिधि भेजने को कहा गया है। बैठक में बाकी चार चरणों के लिए चुनाव प्रचार से संबंधित मुद्दों पर चर्चा की जाएगी। सूत्रों के मुताबिक, बैठक में सामाजिक दूरी और कोविड-19 से जुड़े विभिन्न नियमों के पालन को लेकर चर्चा की जाएगी।

नामांकन वापस लेने की आखिरी तिथि और मतदान की तारीख के बीच कम से कम 14 दिन का अंतर होना चाहिए। हालांकि, अंतिम चरण के चुनाव के लिए नामांकन वापस लेने की अंतिम तिथि 12 अप्रैल थी। इसलिए उसका मतदान 26 अप्रैल से पहले नहीं हो सकता, इसीलिए मतदान पीछे तो खिसकाया जा सकता है लेकिन आगे नहीं लाया जा सकता। बैठक में राज्य के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) जग मोहन और राज्य के स्वास्थ्य सचिव एनएस निगम भी बैठक में मौजूद रहेंगे।

हाईकोर्ट के भी निर्देश

इससे पहले कलकत्ता हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश टीबी एन राधाकृष्णन की पीठ ने दो जनहित याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए मंगलवार को निर्देश दिया था कि कोरोना वायरस के मामलों में बढ़ोतरी के मद्देनजर विधानसभा चुनाव के लिए राजनीतिक दलों के प्रचार के संबंध में स्वास्थ्य संबंधी सभी निर्देशों का कड़ाई से पालन होना चाहिए।

Related posts