JK DDC Election Results: घाटी में पहली बार खिला कमल, BJP सबसे बड़ी पार्टी, गुपकार सबसे बड़ा गठबंधन बना – Zee News Hindi

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर में जिला विकास परिषद यानी DDC चुनाव के पूरे नतीजे आना अभी बाकी है, लेकिन अब तक के नतीजों के मुताबिक बीजेपी (BJP) पहली बार जम्मू कश्मीर के किसी चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी बनी है, जबकि गुपकार (Gupkar Alliance) सबसे बड़ा गठबंधन बना है.

बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी

आंकड़ों के मुताबिक, डीडीसी चुनावों (DDC Election) में बीजेपी (BJP) ने शानदार प्रदर्शन किया है और 74 सीटों पर जीत हासिल की है. वहीं नेशनल कांफ्रेंस ने 67, निर्दलीय उम्मीदवारों ने 49, महबूबा मुफ्ती की पार्टी पीडीपी (PDP) ने 27 सीटों पर जीत हासिल की है. इसके अलावा कांग्रेस के पाले में 26 सीटें आई हैं, जबकि जेकेएपी को 12, सीपीआईएम को 5, जेकेपीएम को 3 और एनपीपी को 2 सीटें मिली हैं. बीएसपी और पीडीएफ के खाते में एक-एक सीटें गई हैं.

लाइव टीवी

ये भी पढ़ें- कृषि कानून के विरोध में 28वें दिन प्रदर्शन जारी, हरियाणा में हाइवे टोल फ्री की तैयारी  

कश्मीर घाटी में खुला बीजेपी का खाता

डीडीसी चुनावों (DDC Election) की सबसे खास बात है कि कश्मीर घाटी में पहली बार बीजेपी का खाता खुला है. बीजेपी ने कश्मीर घाटी में कुल 3 सीटें जीती हैं. श्रीनगर के खानमोह से बीजेपी के इंजीनियर एजाज हुसैन, बांदीपोरा से बीजेपी के एजाज अहमद खान, पुलवामा के काकपोरा से बीजेपी के मिन्हा लतीफ ने जीत दर्ज की है.

बीजेपी इस शुरुआत से उत्साहित

जम्मू कश्मीर में DDC चुनावों के नतीजों से बीजेपी (BJP) काफी उत्साहित है और पार्टी ने अनुच्छेद 370 हटाने के फैसले पर जम्मू-कश्मीर के लोगों का जनादेश बताया है. बीजेपी ने कहा कि कश्मीर में अब कमल खिला है. फिलहाल इन चुनावों में बड़ी संख्या में निर्दलीय प्रत्याशी भी जीत कर आ रहे हैं. बीजेपी का दावा है कि उसने बड़ी संख्या में निर्दलीय प्रत्याशियों को समर्थन दिया था.

महबूबा मुफ्ती नें लगाया धांधली का आरोप

गुपकार में शामिल 7 पार्टियों ने DDC चुनाव 370 के खिलाफ जनादेश बताकर लड़ा था. नतीजों के बाद उमर अब्दुल्ला (Omar Abdullah) ने कहा कि विपक्ष को जनता में खत्म करने की साजिश फेल हो गई. वहीं पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) ने केंद्र सरकार और बीजेपी पर चुनावी धांधली का आरोप लगा दिया. महबूबा ने ट्वीट कर कहा, ‘ये नतीजे बताते हैं कि 370 हटाना असंवैधानिक था. भारत सरकार ने हमें जीतने से रोकने में कोई कसर नहीं छोड़ी थी.

VIDEO

Related posts