राजस्थान: BJP ने की CBI जांच की मांग, कहा- कांग्रेस ने फर्जी ऑडियो से पार्टी को बदनाम करने की कोशिश की – News18 इंडिया

राजस्थान में सियासी घमासान मचा हुआ है.

भाजपा ने इसके साथ ही जयपुर के ज्योति नगर थाना में दर्ज एफआईआर कराई करवाई है कि कांग्रेस नेता सुरजेवाला, डोटासरा और लोकेश शर्मा ने विधायकों के खरीद-फरोख्त का फर्जी ऑडियो बनाकर बीजेपी नेताओं को बदनाम कोशिश की है.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान (Rajasthan) में जारी सियासी उथल-पुथल के बीच विधायकों की कथित खरीद-फरोख्त से जुड़े ऑडियो क्लिप पर सियासत गर्माती दिख रही है. राज्य की विपक्षी बीजेपी ने इस मामले की सीबीआई से जांच कराने की मांग की है. भाजपा (BJP) ने इस संबंध में पुलिस में एफआईआर भी दर्ज कराई है. भाजपा ने जयपुर के ज्योति नगर थाना में दर्ज एफआईआर में आरोप लगाया कि कांग्रेस नेता सुरजेवाला, डोटासरा और लोकेश शर्मा ने विधायकों की खरीद फरोख्त के फर्जी ऑडियो बनाकर बीजेपी नेताओं को बदनाम करने कोशिश की है. भाजपा ने इस संबंध में मानहानि का केस दर्ज कराया और पुलिस से इन नेताओं को गिरफ्तार करने की मांग की.

वहीं दूसरी तरफ अब विधायक खरीद-फरोख्त में सामने आए ऑडियो टेप मामले को लेकर एंटी करप्शन ब्यूरो (ACB) में भी एफआईआर दर्ज कराई गई है. जानकारी के मुताबिक राजस्थान विधानसभा में मुख्य सचेतक महेश जोशी की शिकायत पर यह एफआईआर दर्ज हुई है. एफआईआर में विधायक भंवरलाल शर्मा को नामजद बनाया गया है, क्योंकि बयानों में महेश जोशी ने कहा कि विधायक भंवरलाल शर्मा की आवाज को वे पहचानते हैं. एसीबी मुख्यालय में पीसी एक्ट के तहत यह मामला दर्ज किया गया है.

संजय जैन को गिरफ्तार किया
राजस्थान में पॉलिटिकल ड्रामे की बीच एसओजी की टीम ने एक बड़ी कार्रवाई की है. राजस्थान पुलिस की स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (SOG) की टीम ने भारतीय दंड संहिता की धारा 124 ए और 120 बी के तहत संजय जैन (Sanjay Jain) को गिरफ्तार कर लिया है. दूसरी ओर आईटी विभाग (IT) की एक बड़ी कार्रवाई सामने आई है. आयकर विभाग ने दो दिन पहले किए गए छापे में करीब 1.7 करोड़ रुपये नगद और बेहिसाब आभूषण बरामद किए हैं. इसकी कीमत 12 करोड़ रुपये से अधिक बताई जा रही है.लॉकर से मिले हैं पांच करोड़

सूत्रों के मुताबिक, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के बेटे के साथी रतन कांत शर्मा के लॉकर से 5 करोड़ रुपये भी जब्त किए गए हैं. मालूम हो कि प्रवर्तन निदेशालय ने पहले राज्य के कई स्थानों पर छापे मारे थे, जिसमें जयपुर में एक पांच सितारा होटल भी शामिल था.

Related posts