राजस्थान LIVE: HC में पायलट गुट की दलील- तानाशाही पर सवाल उठाना बगावत नहीं – आज तक

  • राजस्थान में जारी है सियासी लड़ाई
  • कांग्रेस ने बीजेपी पर लगाया आरोप

राजस्थान में जारी सियासी लड़ाई अब हाईकोर्ट में भी लड़ी जा रही है. सचिन पायलट गुट की ओर से दायर की गई याचिका पर राजस्थान हाईकोर्ट में सुनवाई हुई. पायलट गुट की ओर से हरीश साल्वे ने अपने तर्क रखे. उन्होंने दलील दी है कि पार्टी के अंदर रहकर मुख्यमंत्री के खिलाफ आवाज उठाना बगावत नहीं है. आज की सुनवाई हो चुकी है. वहीं एसओजी राजस्थान की टीम आईटीसी ग्रैंड भारत होटल भी पहुंची.

बड़े अपडेट्स:

8.57 PM: भंवरलाल शर्मा रिसॉर्ट के अंदर मौजूद नहीं थे. राजस्थान पुलिस उससे पूछताछ किए बिना ही चली गई.

8.22 PM: करीब आधे घंटे बाद एसओजी की टीम होटल से बाहर निकली और मीडिया से बगैर रूबरू हुए चली गई है.

7.38 PM: हरियाणा पुलिस के आग्रह पर करीब डेढ़ घंटे बाद होटल प्रबंधन की तरफ से ही कोई निकल कर आया, जिन्होंने राजस्थान से आई एसओजी टीम से कुछ बातचीत की. करीब डेढ़ घंटे बाद एसओजी की टीम की गाड़ी को होटल में प्रवेश करने दिया गया.

7.11 PM: एसओजी की टीम को रिसॉर्ट में नहीं जाने दिया गया है. डीएसपी जितेंद्र ने आकर एसओजी की टीम को वापस भेजा है. हालांकि टीम अभी भी होटल के बाहर मौजूद है. साथ ही वहां हरियाणा पुलिस को फिर से तैनात किया गया है.

6.58 PM: एसओजी राजस्थान की टीम आईटीसी ग्रैंड भारत होटल पहुंची. जहां हरियाणा पुलिस के जवानों ने गाड़ी को अंदर प्रवेश करने से रोक दिया है. राजस्थान के अधिकारियों से परमिशन मांगी जा रही है. वहीं हरियाणा पुलिस सीनियर अधिकारियों से बातचीत की बात कह रही है. राजस्थान पुलिस के आईपीएस स्तर के अधिकारी सहित 6 लोग स्कॉर्पियो गाड़ी में सवार होकर आईटीसी ग्रैंड भारत पहुंचे हैं. दरअसल, ऑडियो टेप वायरल होने के बाद राजस्थान के विधायकों का बयान दर्ज करने एसओजी की टीम पहुंची है.

6.40 PM: राजस्थान पुलिस की एसओजी की एक टीम मानेसर के रिसॉर्ट में पहुंची है, जहां कांग्रेस के विधायक ठहरे हुए हैं.

5.28 PM: वायरल ऑडियो पर प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए बीजेपी नेता गुलाब चंद कटारिया ने कहा कि वे अपनी आंतरिक लड़ाई को निम्न स्तर पर ले गए हैं. इसमें गजेंद्र सिंह शेखावत को फंसाने की कोशिश की गई है. क्या कोई सरकारी एजेंसी फोन टैपिंग के लिए इस्तेमाल की गई थी?

4.46 PM: राजस्थान हाईकोर्ट ने 21 जुलाई तक नोटिस पर रोक लगा दी है. 21 जुलाई तक स्पीकर कोई कार्रवाई नहीं कर सकेंगे. अब सुनवाई सोमवार को सुबह 10 बजे होगी.

4.40 PM: मुकुल रोहतगी के बाद अब अभिषेक मनु सिंघवी बहस कर रहे हैं. सिंघवी का कहना है कि पायलट की याचिका प्री-मेच्योर है.

3.47 PM: हरीश साल्वे ने यह कहते हुए बहस खत्म कर ली कि स्पीकर का नोटिस गैरकानूनी है, जो विधायक राजस्थान से बाहर हैं वह परेशान हैं. उनको राहत दी जाए. वहीं अब मुकुल रोहतगी बोल रहे हैं.

3.31 PM: साल्वे ने सचिन पायलट की तरफ से कहा कि मैं सरकार को गिरा रहा हूं या किसी भी लिमिट को क्रॉस कर कोई पाप कर रहा हूं तो समझ में आता है कि मैं गलत कर रहा हूं. मगर मैं जब आवाज उठा रहा हूं तो यह हमारे फ्रीडम ऑफ स्पीच का पाठ है जो आर्टिकल 19 के तहत मुझे मिला है. अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता हमारे संविधान का हिस्सा है. इसलिए इस नोटिस को तुरंत रद्द किया जाए.

03.30 PM: सुनवाई शुरू हो चुकी है.

03.28 PM: मामले में 3.30 बजे से सुनवाई शुरू होगी.

02.30 PM: अभी कोर्ट में लंच ब्रेक हुआ है. अब ब्रेक के बाद सुनवाई होगी.

02.00 PM: हरीश साल्वे की ओर से कोर्ट में कहा गया कि अगर कोई विधायक अपने मुख्यमंत्री के भ्रष्टाचार और तानाशाही रवैए के खिलाफ बोलता है, अपनी सेंट्रल लीडरशिप को जगाता है यह उसका फ्रीडम ऑफ स्पीच है, यह बगावत नहीं है

01.46 PM: सुनवाई के दौरान अदालत ने गहलोत सरकार की ओर से मुख्य सचेतक महेश जोशी को पार्टी मान लिया है. हरीश साल्वे की ओर से कहा गया है कि स्पीकर इस मामले में भेदभाव कर रहे हैं, स्पीकर की मंशा साफ नहीं है. इस दौरान अदालत में ऑडियो मामले में लिखी गई FIR पर भी चर्चा हुई और हरीश साल्वे ने कहा कि देखिए अब किस तरह FIR लिखी जा रही हैं.

01.29 PM: सचिन पायलट गुट की याचिका पर हाईकोर्ट में सुनवाई शुरू हो गई है. महेश जोशी की अपील को माना गया है और अब नोटिस के लिए तीन दिन देने पर बहस हो रही है. सचिन पायलट गुट की ओर से हरीश साल्वे लंदन से पेश हो रहे हैं.

12.40 PM: सचिन पायलट मामले में हाईकोर्ट में दोपहर एक बजे सुनवाई शुरू हो सकती है. इस मामले की सुनवाई चीफ जस्टिस इंद्रजीत मोहंती, जस्टिस प्रकाश गुप्ता करेंगे. आज की सुनवाई में ये याचिका आठवें नंबर पर लिस्ट है.

12.00 PM: वायरल ऑडियो के मामले में राजस्थान की स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप ने दो FIR दर्ज कर ली हैं. ये शिकायत कांग्रेस नेता महेश जोशी ने दर्ज कराई हैं. इनमें कांग्रेस की ओर से केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत पर आरोप लगाया गया है.

11.30 AM: कांग्रेस द्वारा लगाए गए ऑडियो के आरोप पर केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने इसको फर्जी बताया है और कहा है कि मैं मारवाड़ भाषा बोलता हूं बल्कि आवाज में झुंझनू का टच है. केंद्रीय मंत्री के अलावा बीजेपी ने भी कांग्रेस पर फर्जी आरोप लगाने की बात कही है.

09.43 AM: रणदीप सुरजेवाला ने आरोप लगाया कि केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत इस पूरी साजिश में शामिल हैं. उनपर तुरंत FIR दर्ज होनी चाहिए और गिरफ्तारी की जानी चाहिए. जांच में सामने आना चाहिए कि केंद्र सरकार के कौन से व्यक्ति इस पूरी प्रक्रिया में शामिल हैं.

कांग्रेस नेता ने कहा कि सचिन पायलट को सामने आकर इस सच्चाई को उजागर करना चाहिए और विधायकों की लिस्ट जारी करनी चाहिए. ऑडियो में बातचीत करने वाले भंवरलाल शर्मा, विश्वेंद्र सिंह को कांग्रेस से निलंबित कर दिया गया है और नोटिस जारी किया गया है. इस मामले में अब SOG में शिकायत दर्ज करवा दी गई है और जांच करने की मांग की गई है.

09.37 AM: कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि आज बीजेपी राजस्थान की सरकार गिराने की कोशिश कर रही है, इसके कुछ ऑडियो भी सामने आ रहे हैं. जिसमें राजस्थान के कांग्रेस विधायकों को खरीदने की कोशिश की जा रही है. प्रेस कॉन्फ्रेंस में रणदीप सुरजेवाला ने कांग्रेस नेता भंवरलाल शर्मा और बीजेपी नेता संजय जैन की बातचीत के बारे में बताया.

09.26 AM: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की प्रेस कॉन्फ्रेंस रद्द हो गई है. हालांकि, रणदीप सुरजेवाला की ओर से प्रेस कॉन्फ्रेंस की जाएगी.

08.50 AM: सूत्रों की मानें, तो कल रात सचिन पायलट ने कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम से बात की है. कांग्रेस पार्टी की ओर से सचिन पायलट को वापस आने को कहा गया है, साथ ही भरोसा दिया गया है कि इस चैप्टर को यहीं बंद कर दिया जाएगा. हालांकि ये भी कहा गया है कि जो पद थे वो वापस नहीं मिलेंगे, बल्कि केंद्रीय नेतृत्व में जगह मिल जाएगी.

8.38 AM: जयपुर में आज दो प्रेस कॉन्फ्रेंस होंगी. पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस मुख्यमंत्री अशोक गहलोत करेंगे, उसके बाद रणदीप सुरजेवाला मीडिया से अलग बात करेंगे.

यह भी पढ़ें: सियासी संग्राम के बीच गहलोत सरकार के लिए राहत वाली खबर, BTP ने किया समर्थन का ऐलान

हाईकोर्ट में जारी है सुनवाई

एक ओर सियासी दंगल चल रहा है, तो अब लड़ाई कानूनी हो चली है. हाईकोर्ट में सचिन पायलट गुट की ओर से याचिका डालकर कहा गया है कि स्पीकर का नोटिस वैध नहीं है, क्योंकि अभी कोई सत्र नहीं चल रहा है. साथ ही इस नोटिस का जवाब देने के लिए अधिक वक्त मिलना चाहिए.

अब हाईकोर्ट में इस मामले की सुनवाई आज होगी, तबतक स्पीकर सभी बागी विधायकों पर कोई एक्शन नहीं ले सकते हैं. सचिन पायलट की ओर से मुकुल रोहतगी और हरीश साल्वे पक्ष रख रहे हैं, जबकि राजस्थान विधानसभा स्पीकर की ओर से अभिषेक मनु सिंघवी मैदान में हैं.

आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला जारी

राजस्थान में जारी सियासी लड़ाई में गुरुवार को वसुंधरा राजे का खेमा कुछ एक्टिव दिखा. सचिन पायलट की ओर से लगाए गए बंगला मिलने के आरोप में वसुंधरा राजे समर्थकों ने कहा कि उनके आरोप बेबुनियाद हैं और वसुंधरा राजे को नियमों के अनुसार बंगला मिला है. दूसरी ओर एनडीए सांसद हनुमान बेनीवाल ने लिख दिया कि वसुंधरा राजे ही अशोक गहलोत को सरकार बचाने में मदद कर रही हैं.

Related posts