दिल्ली: मरकज में इंडोनेशिया से आए थे 800 लोग, ब्लैक लिस्ट करने की तैयारी में सरकार – आज तक

  • दिल्ली में कोरोना वायरस का खतरा बढ़ा
  • मरकज में शामिल 24 लोग कोरोना पॉजिटिव
  • 800 इंडोनेशियाई लोगों पर कार्रवाई संभव

देश की राजधानी दिल्ली में निज़ामुद्दीन इलाके में स्थित तबलीगी ज़मात के मरकज में कोरोना वायरस के संक्रमण से अफरातफरी मच गई है. यहां शामिल हुए करीब 24 लोग कोरोना वायरस से पीड़ित पाए गए हैं, जो चिंता बढ़ाने वाला आंकड़ा है. इस बीच अब सरकार ने यहां हुए कार्यक्रम को लेकर जानकारी खंगालनी शुरू कर दी है. मरकज में मौजूद रहे करीब 800 लोग इंडोनेशिया से थे, जिनपर अब एक्शन लिया जाएगा.

सूत्रों की मानें तो तबलीगी जमात में शामिल हुए जो 800 लोग इंडोनेशिया से भारत आए थे, उन्हें ब्लैक लिस्ट किया जा सकता है. क्योंकि ये सभी लोग टूरिस्ट वीज़ा पर भारत आए थे और इनके द्वारा अथॉरिटी को किसी जमात में शामिल होने की जानकारी नहीं दी गई थी. ऐसे में इस वीज़ा नियमों का उल्लंघन माना गया है और अब एक्शन लिया जाएगा.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें…

स्वास्थ्य मंत्री ने दिया बयान

गौरतलब है कि दिल्ली के निज़ामुद्दीन इलाके में स्थित मरकज में हुए एक कार्यक्रम में कोरोना वायरस के मामले सामने आए हैं. दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के मुताबिक, यहां कार्यक्रम में शामिल हुए 24 लोग कोरोना वायरस पॉजिटिव पाए गए हैं.

सत्येंद्र जैन ने बताया कि इस कार्यक्रम में 1500 से 1700 के करीब लोग शामिल हुए थे, जिनमें से 1073 को निकाला जा चुका है. अभी तक 334 लोगों को अस्पताल में भर्ती करवाया गया है, जबकि 700 लोगों को क्वारनटीन में रहने को कहा गया है.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि लॉकडाउन और इतनी पाबंदियां होने के बावजूद इस तरह का कार्यक्रम आयोजित करना एक अपराध है.

बता दें कि राजधानी में हुए इस कार्यक्रम में देश के कई राज्यों के लोग शामिल हुए थे, जो वापस अपने-अपने क्षेत्र में चले गए हैं. ऐसे में देश में अब कोरोना वायरस के फैलने का खतरा बना हुआ है, जो कि एक बड़ी लापरवाही है. इसी के चलते दिल्ली सरकार ने मरकज़ के मौलाना के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की इजाजत दे दी है.

Related posts