सट्टेबाज संजीव चावला की प्रत्यर्पण को मिली मंजूरी, 28 दिन में लाया जाएगा इंडिया

India oi-Rahul Kumar |

Published: Thursday, January 16, 2020, 20:27 [IST]
लंदन। मैच फिक्सिंग के आरोपों का सामना कर रहे कथित सट्टेबाज संजीव चावला को भारत में प्रत्यर्पित करने का रास्ता साफ हो गया है। वेस्टमिनिस्टर कोर्ट ने संजीव चावला के प्रत्यर्पण को मंजूरी दे दी है। लंदन की अदालत में गुरुवार को बुकी संजीव चावला के प्रत्यर्पण पर सुनवाई हुई। अदालत ने कहा कि हम अपील करने की अनुमति से इनकार करेंगे और हाई कोर्ट के पिछले फैसले को भी खोलने की अनुमति नहीं देंगे। चावला 2000 के क्रिकेट मैच फिक्सिंग के मामले में भारत में वांछित है। उसने प्रत्यर्पण के खिलाफ अपील मानवाधिकार आधार पर की है। ब्रिटेन के पूर्व गृहमंत्री साजिद जाविद ने पिछले साल फरवरी में डिस्ट्रिक्ट जज के प्रत्यर्पण के पक्ष में दिये गये आदेश पर हस्ताक्षर कर दिये और 50 वर्षीय चावला को इस फैसले के खिलाफ अपील करने का समय दिया। आज सुनवाई के दौरान जस्टिस डेविड बीन और जस्टिस क्लाइव लुइस ने कहा कि संजीव चावला की याचिका को अस्वीकार किया जाता है। भारत-ब्रिटेन प्रत्यर्पण संधि के तहत से 28 दिनों के भीतर भारत भेजा जाए। सरकार की तरफ से पेश हुए वकील मार्क समर ने कहा कि चावला के पास इस फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देने का विकल्प ना के बराबर है। हाईकोर्ट ने भारत सरकार से कहा कि उसे स्पेशल सेल में रखा जाए जहां उसकी सुरक्षा और स्वास्थ्य का बेहतर खयाल रखा जा सके। इस मैच फिक्सिंग प्रकरण में दक्षिण अफ्रीका के पूर्व दिवंगत कप्तान हैसी क्रोन्ये, भारत के पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन, नयन मोंगिया, अजय जडेजा, जैसे खिलाड़ियों का नाम उछला था। हालांकि इन सभी भारतीय खिलाड़ियों को बाद में क्लीन चिट मिल गई थी। दिल्ली के अजय शर्मा पर बीसीसीआई ने इसी मामले के आधार पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया था। त्रिपुरा में रहेंगे 30000 ब्रू शरणार्थी, मिलेगी नागरिकता, फ्री घर-राशन
जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें – निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!
Tonk : पाकिस्तान की बेटी नीता कंवर राजस्थान में बहू बनकर लड़ रही सरपंच का चुनाव, देखें वीडियो आर्थिक मोर्चे पर बुरी खबर, लगातार 5वें महीने घटा भारत का निर्यात पाकिस्तानी लड़के ने दुबई में ऐसे जीत लिया भारत की लड़की का दिल, वायरल हुई कहानी नीतीश कुमार Porn साइट पर क्यों चाहते हैं पूर्ण पाबंदी ? जानिए वजह भारत पर जितना अधिकार मेरा और आपका, उतना ही पाक से आए हिंदू, सिख, बौद्ध, ईसाईयों का: अमित शाह भारत-चीन में OYO हजारों कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखा रहा देश में बढ़ रही खुदकुशी की घटनाएं, जानिए किस राज्य में सबसे ज्यादा लोग क्यों कर रहे सुसाइड ? दुनिया के सबसे बड़े जोखिमों में शामिल भारत, मुश्किल रहेगा 2020: US एजेंसी 100 पूर्व नौकरशाहों ने लिखा खुला पत्र, कहा- भारत को NPR और सीएए की जरूरत नहीं अमेरिका और ईरान के बीच बढ़े तनाव से भारत को झेलने पड़ेगे ये बड़े नुकसान ईरान के सर्वोच्च नेता खामनेई बोले- मिसाइल हमला ‘अमेरिका के मुंह पर तमाचा’ अमेरिका के साथ तनाव कम करने के लिए भारत की मध्यस्थता का स्वागत: ईरानी राजदूत
Source: OneIndia Hindi

Related posts