निर्भया के दोषी की सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका

नई दिल्ली: निर्भया गैंगरेप केस में दोषी अक्षय कुमार सिंह ने फांसी की सजा से बचने के लिए सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल की है. इससे पहले शीर्ष अदालत ने दोषी विनय, पवन और मुकेश की पुनर्विचार याचिकाओं को खारिज कर दिया था. निर्भया गैंगरेप केस में इन आरोपियों को फांसी की सजा सुनाई जा चुकी है. बता दें कि उनकी सजा को दिल्ली उच्च न्यायालय और उच्चतम न्यायालय ने बरकरार रखा था.

Nirbhaya case: One of the convicts in the case, Akshay Kumar Singh, has filed review petition before the Supreme court. Akshay was sentenced to death by a trial court in the case. His sentence was upheld by Delhi High Court and the Supreme Court.
— ANI (@ANI) December 10, 2019

इससे पहले साल 2012 में दिल्ली में हुए निर्भया सामूहिक दुष्कर्म मामले के एक और दोषी विनय शर्मा ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को पत्र लिखकर अपनी दया याचिका वापस लेने की मांग की थी. दोषी विनय शर्मा ने अपने वकील एपी सिंह के माध्यम से शनिवार को राष्ट्रपति को पत्र लिखकर अनुरोध किया कि उसे दया याचिका वापस लेने की अनुमति दी जाए.
पत्र में दावा किया गया है कि गृह मंत्रालय की ओर से राष्ट्रपति को भेजी गई दया याचिका पर उसका हस्ताक्षर नहीं है. एपी सिंह ने आरोप लगाया कि यह एक साजिश है, क्योंकि उन्होंने अभी तक याचिका दायर नहीं की है. वहीं, इस पर पीड़िता की मां ने भी राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को पत्र लिखा है और दया याचिका खारिज करने की अपील की है.
[embedded content]

Source: HW News

Related posts