MTNL के 14,348 कर्मचारियों ने VRS के लिए किया आवेदन

MTNL में VRS के लिए आवेदन करने का आज अंतिम दिन

MTNL में VRS के लिए आवेदन करने का आज अंतिम दिन है. सूत्रों के मुताबिक अब तक 14,348 कर्मचारियों ने वीआरएस के लिए आवेदन किया है.

News18Hindi
Last Updated:
December 3, 2019, 7:55 PM IST

Share this:

नई दिल्ली. सार्वजनिक क्षेत्र की दूरसंचार कंपनी महानगर टेलीफोन निगम लि. (MTNL) की स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना (VRS) के लिए अब तक 14,348 कर्मचारियों ने आवेदन किया है. कंपनी ने वीआरएस योजना की घोषणा हाल में की थी. एमटीएनएल में वीआरएस के लिए आवेदन करने का आज अंतिम दिन  है. इससे पहले एक अन्य सरकारी दूरसंचार कंपनी भारत संचार निगम लि. (BSNL) की वीआरएस योजना को भी कर्मचारियों की अच्छी प्रतिक्रिया मिली थी.MTNL में कुल 18500 कर्मचारी- MTNL में कुल 18500 कर्मचारी हैं. सूत्रों के मुताबिक इनमें से 14,348 कर्मचारियों ने वीआरएस के लिए आवेदन किया है. कुल मिलाकर कंपनी के 16,300 कर्मचारी वीआरएस के पात्र हैं. बता दें कि एमटीएनएल को पिछले 10 में से 9 साल घाटा हुआ है. बीएसएनएल भी 2010 से घाटे में है. दोनों कंपनियों 40,000 करोड़ रुपये का कर्ज है. इसमें से आधा अकेले एमटीएनएल पर है.ये भी पढ़ें: GST काउंसिल बैठक: इन चीजों पर फिर से लग सकता है टैक्स, 15 दिसंबर की बैठक में फैसला संभवMTNL का सैलरी बिल घटकर 600 करोड़ होगा- कर्मचारियों के वीआरएस लेने से एमटीएनल का सैलरी बिल घटकर 600 करोड़ रुपये हो जाएगा. इससे एमटीएनएल को हर महीने 1,600 करोड़ रुपये की बचत होगी. एमटीएनएल का मंथली सैलेरी बिल 2,200 करोड़ रुपए है. वीआरएस के बाद एमटीएनएल में 4000 कर्मचारी बचेंगे.VRS स्कीम से BSNL में अधिकारियों की हुई कमी- VRS दे रही सरकारी कंपनी भारत संचार निगम लि (BSNL) को महत्वपूर्ण प्रबंधिकीय पदों के लिए वरिष्ठ अधिकारियों की कमी सताने लगी है और उसने इसके लिए दूरसंचार विभाग से प्रतिनियुक्ति (Deputation) पर पर्याप्त संख्या में भारतीय दूरसंचार सेवा (ITS) के अधिकारी मांगे है. लेकिन प्रतिनियुक्ति पर आए तमाम आईटीएस अधिकारी विभाग में वापस जाना चाहते हैं.ये भी पढ़ें: 3000 रुपए की पेंशन स्कीम का 19 लाख किसानों ने उठाया फायदा, आप भी ऐसे करें अप्लाई 200 और आईटीएस अधिकारियों की मांग- BSNL के मानव संसाधन निदेशक अरविंद वाडनेकर ने वीआरएस योजना (VRS Scheme) की घोषणा किए जाने के बाद चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक पीके पुरवार की ओर से विभाग को लिखा है कि उन्हें विभाग से 200 और आईटीएस अधिकारी दिए जाएं. BSNL में प्रति नियुक्ति पर आए ऐसे 550 अधिकारी कार्यरत है. वाडनेकर ने लिखा है कि कंपनी इस समय संकट की स्थिति में है. ऐसे में महत्वपूर्ण प्रबंधकीय पदों पर लोगों का बने रहना बहुत जरूरी है ताकि कंपनी अपने ग्राहकों की सेवाएं बिना रुकावट जारी रख सके. कंपनी का हित इसी में है.Loading… (असीम मनचंदा, संवाददाता- CNBC आवाज़)
ये भी पढ़ें: मुद्रा लोन योजना में बड़ा खुलासा, लोन लेने वालों ने नहीं लौटाए ₹18 हजार करोड़

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 3, 2019, 7:52 PM IST

Loading…

Source: News18 News

Related posts