Kartarpur Corridor:मेरे दोस्त इमरान के योगदान को नकारा नहीं जा सकता: नवजोत सिंह सिद्धू

India oi-Ankur Singh |

Updated: Saturday, November 9, 2019, 17:56 [IST]
नई दिल्ली। करतारपुर कॉरिडोर के उद्धघाटन के मौके पर कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू भी हिस्सा लेने पहुंचे। इस मौके पर उन्होंने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि मैं नरेंद्र मोदी जी का शुक्रिया अदा करता हूं। इससे कोई मतलब नहीं है कि हमारे बीच राजनीतिक मतभेद हैं। मेरा पूरा जीवन गांधी परिवार के लिए समर्पित रहा है, मैं मोदी साहब को मुन्नाभाई के अंदाज में अपना आलिंगन भेज रहा हूं। सिद्धू ने कहा कि भारत-पाकिस्तान के बीच बंटवार के बाद से यह पहला मौका है जब दोनों देशों की सीमाओं खत्म हो गईं। सिद्धू ने कहा कि इसके लिए मेरे दोस्त इमरान खान के योगदान से इनकार नहीं किया सकता है। सिद्धू ने कहा कि मैं मोदी जी का भी शुक्रिया अदा करता हूं। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश-उत्सव से पहले, इंटीग्रेटेड चेकपोस्ट, करतारपुर साहिब कॉरिडोर का खुलना, हम सभी के लिए दोहरी खुशी लेकर आया है। इस कॉरिडोर के बनने के बाद, अब गुरुद्वारा दरबार साहिब के दर्शन आसान हो जाएंगे। अपनी यात्राओं का मकसद, गुरु नानक देव जी ने ही बताया था। बाबे आखिआ, नाथ जी, सचु चंद्रमा कूडु अंधारा !! कूडु अमावसि बरतिआ, हउं भालण चढिया संसारा !! बता दें कि आज पंजाब के गुरुदासपुर स्थित बाबा डेरा नानक को पाकिस्तान के पंजाब में स्थित गुरुद्वारा दरबार साहिब से जोड़ने वाले करतारपुर कॉरिडोर का पीएम मोदी ने उद्घाटन किया। सिख धर्म के संस्‍थापक गुरुनानक देव की 550वीं जन्‍मतिथि के मौके पर इस कॉर‍िडोर से 550 से ज्‍यादा सिख श्रद्धालुओं का पहला जत्‍था करतारपुर पहुंचा। पीएम मोदी ने इस दौरान पैसेंजर टर्मिनल बिल्डिंग का उद्घाटन किया, जिसे इंटीग्रेटेड चेक पोस्‍ट के नाम से जाना जाएगा। अंतरराष्‍ट्रीय बॉर्डर से दरबार साहिब की दूरी बस 4.5 किलोमीटर ही है। करतारपुर कॉरिडोर पाकिस्‍तान के नारोवाल जिले में है। इसे भी पढ़ें- अयोध्या फैसला सुनाने के बाद जस्टिस रंजन गोगोई बेंच के सभी जजों को रात में डिनर पर लेकर जाएंगे
जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें – निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!
Source: OneIndia Hindi

Related posts