Ayodhya Verdict: SC के फैसले पर पुनर्विचार याचिका दायर नहीं करेगा सुन्नी वक्फ बोर्ड

India oi-Ankur Sharma |

Updated: Saturday, November 9, 2019, 17:20 [IST]
नई दिल्ली। शनिवार को सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला सुनाया है, कोर्ट ने कहा कि अयोध्या में विवादित स्थल पर ही राम मंदिर बनेगा जबकि मुस्लिम पक्ष को अयोध्या में ही 5 एकड़ की अलग से जमीन दी जाए, जिस पर वो मस्जिद बना सकें, राम मंदिर निर्माण के लिए कोर्ट ने केंद्र सरकार को तीन महीने के अंदर ट्रस्ट बनाने का आदेश दिया है. चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच जजों की बेंच ने यह फैसला सर्वसम्मति से सुनाया। इस बारे में प्रतिक्रिया देते हुए सुन्नी वक्फ बोर्ड ने साफ किया है कि वो अदालत के फैसले पर पुनर्विचार याचिका दायर नहीं करेगा, सुन्नी वक्फ बोर्ड की ओर से जफर फारुकी ने कहा कि हम अयोध्या विवाद पर आए सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हैं, हमने पहले ही साफ किया था कि सुप्रीम कोर्ट का जो भी फैसला आएगा उसे दिल से माना जाएगा इसलिए हमारी ओर से पुनर्विचार याचिका दायर नहीं की जाएगी और हम सबसे अपील करते हैं कि सभी को भाईचारे के साथ इस फैसले का सम्मान करना चाहिए। देश में हाई अलर्ट, स्कूल-कॉलेज बंद इस वक्त देश के सभी राज्यों में पुलिस अलर्ट पर है और सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त कर लिए गए हैं। खासतौर पर उत्तर प्रदेश में सुरक्षा व्यवस्था सख्त कर दी गई है। अयोध्या में धारा 144 लागू कर दी गई है। उप्र में स्कूल-कॉलेज सोमवार तक के लिए बंद किए गए हैं। यह पढ़ें: Ayodhya Verdict पर बोलीं फराह खान अली, कहा-अब मंदिर बन जाएगा… इस फैसले के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया था कि देश के सर्वोच्च न्यायालय ने अयोध्या पर अपना फैसला सुना दिया है। इस फैसले को किसी की हार या जीत के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए। रामभक्ति हो या रहीमभक्ति, ये समय हम सभी के लिए भारतभक्ति की भावना को सशक्त करने का है। देशवासियों से मेरी अपील है कि शांति, सद्भाव और एकता बनाए रखें। Zafar Farooqui, Chairman of Uttar Pradesh Sunni Central Waqf Board: We welcome and humbly accept the verdict of the Supreme Court. I want to make it clear that UP Sunni Waqf Board will not go for any review of the SC order or file any curative petition. pic.twitter.com/k5iUcuX08n
— ANI UP (@ANINewsUP) November 9, 2019
जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें – निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!
Source: OneIndia Hindi

Related posts