Ayodha Verdict: हम सब को आपसी सद्भाव बनाए रखना है: राहुल गांधी

India oi-Ankur Singh |

Published: Saturday, November 9, 2019, 15:09 [IST]
नई दिल्ली। अयोध्या विवाद पर आज सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद तमाम राजनीतिक दलों ने कोर्ट के फैसले का स्वागत किया है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया है। राहुल गांधी ने ट्वीट करके कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या मुद्दे पर अपना फैसला सुना दिया है। कोर्ट के फैसले के बाद राहुल गांधी ने लोगों से आपसी सद्भाव बनाए रखने की अपील की है। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या मुद्दे पर फैसला सुनाते हुए राम मंदिर निर्माण के लिए कमेटी के गठन करने का निर्देश दिया है, साथ ही मस्जिद निर्माण के लिए अयोध्या के किसी अहम इलाके में पांच एकड़ जमीन देने का आदेश दिया है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद राहुल गांधी ने ट्वीट करके लिखा कि सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या मुद्दे पर अपना फैसला सुना दिया है। कोर्ट के इस फैसले का सम्मान करते हुए हम सब को आपसी सद्भाव बनाए रखना है। ये वक्त हम सभी भारतीयों के बीच बन्धुत्व,विश्वास और प्रेम का है। राहुल गांधी के अलावा कई नेताओं ने भी सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि यह फैसला न्यायिक प्रक्रियाओं में जन सामान्य के विश्वास को और मजबूत करेगा। हमारे देश की हजारों साल पुरानी भाईचारे की भावना के अनुरूप हम 130 करोड़ भारतीयों को शांति और संयम का परिचय देना है। भारत के शांतिपूर्ण सह-अस्तित्व की अंतर्निहित भावना का परिचय देना है। पीएम मोदी ने ट्वीट करके लिखा कि देश के सर्वोच्च न्यायालय ने अयोध्या पर अपना फैसला सुना दिया है। इस फैसले को किसी की हार या जीत के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए। रामभक्ति हो या रहीमभक्ति, ये समय हम सभी के लिए भारतभक्ति की भावना को सशक्त करने का है। देशवासियों से मेरी अपील है कि शांति, सद्भाव और एकता बनाए रखें। सुप्रीम कोर्ट का यह फैसला कई वजहों से महत्वपूर्ण है: यह बताता है कि किसी विवाद को सुलझाने में कानूनी प्रक्रिया का पालन कितना अहम है। हर पक्ष को अपनी-अपनी दलील रखने के लिए पर्याप्त समय और अवसर दिया गया। न्याय के मंदिर ने दशकों पुराने मामले का सौहार्दपूर्ण तरीके से समाधान कर दिया। इसे भी पढे़ं- Ayodhya Verdict: आखिर ASI के किस प्रमाण के आधार पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया है अपना फैसला
जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें – निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!
Source: OneIndia Hindi

Related posts