सीजेआई को मिलती है कितनी सैलरी और क्या-क्या सुविधाएं?

ये है सीजेआई का वेतन सीजेआई का वेतन देश के प्रधानमंत्री से भी ज्यादा होता है। पिछले साल जनवरी में कानून मंत्रालय ने सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट के जजों के वेतन में करीब 200 फीसदी तक की बढोत्तरी की थी। इस बढोत्तरी के बाद सीजेआई का वेतन अब 2.80 लाख रुपए प्रति माह हो गया है। इस बढोत्तरी से पहले सीजेआई का वेतन 1 लाख रुपए प्रति माह था। सीजेआई के अलावा सुप्रीम कोर्ट के अन्य जजों का वेतन 2.50 लाख रुपए प्रति माह होता है। इससे पहले इनका वेतन 90 हजार रुपए प्रति माह था। सैलरी के अलावा मिलती हैं ये सुविधाएं वेतन के अलावा सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश को अन्य सुविधाएं भी मिलती हैं। सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश को रहने के लिए एक आवास उपलब्ध कराया जाता है। इसके अलावा उन्हें कार, बिजली खर्च सहित अन्य सुविधाएं भी दी जाती हैं। सीजेआई के अधिकार और शक्तियों की अगर बात करें तो उनके पास कोर्ट में जज और कर्मचारी नियुक्त करने का अधिकार होता है। सीजेआई की सलाह के बाद ही हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट के जजों की नियुक्ति होती है। 17 नवंबर को रिटायर होंगे सीजेआई आपको बता दें कि सीजेआई रंजन गोगोई ने 3 अक्टूबर 2018 को देश के मुख्‍य न्‍यायाधीश का पदभार संभाला था। रंजन गोगोई सीजेआई के पद पर पहुंचने वाले पूर्वोत्‍तर भारत के पहले मुख्‍य न्‍यायधीश हैं। 18 नवंबर 1954 को जन्मे सीजेआई रंजन गोगोई ने दिल्ली विश्वविद्यालय के सेंट स्टीफेंस कॉलेज से पढ़ाई की है। सीजेआई गोगोई 17 नवंबर को मुख्य न्यायाधीश के पद से रिटायर हो रहे हैं।
Source: OneIndia Hindi

Related posts