उद्धव बोले- सीएम तो शिवसेना का ही होगा, भाजपा के साथ या उसके बिना

शिवसेना का सीएम बनाने के लिए शाह की जरूरत नहीं फडणवीस के ढाई-ढाई साल मुख्यमंत्री रहने के मुद्दे पर दिए बयान पर ठाकरे ने कहा कि, देवेंद्र फडणवीस ने अमित शाह का हवाला देकर 2.5 साल के सीएम की बात होने से इनकार किया, जनता को पता है कौन झूठ बोल रहा है। हमारे काम बीजेपी जैसा नहीं। अमित शाह ने कहा था कि जिनकी ज्यादा सीट उनका सीएम। मैंने कहा, मैं यह नहीं मानूंगा। उद्धव ठाकरे ने बीजेपी को चेतावनी देते हुए कहा कि, शिवसेना का सीएम होने के सपने को पूरा करने के लिए मुझे किसी की मदद की जरूरत नहीं है। ठाकरे ने स्पष्ट तौर पर कहा कि, पदों और मुख्यमंत्री पद को लेकर 50-50 पर सहमति बनी थी। मुझे इसपर सफाई देने की जरूरत नहीं है। मैंने उनका (बीजेपी) का समर्थन इसलिए किया था क्योंकि देवेंद्र फडणवीस मेरे अच्छे मित्र हैं। क्या फैसला हुआ था इस बारे में मैं शिवसैनिकों से झूठ नहीं बोल सकता हूं। फडणवीस द्वारा मोदी और बीजेपी नेता को लेकर की गई टिप्पणियों के आरोप पर ठाकरे ने कहा कि, मोदीजी पर टिप्पणी की बात कही गई, मैंने मोदीजी पर कोई टिप्पणी नहीं की। बीजेपी अब झूठ बोलना बंद करे: ठाकरे उद्धव ठाकरे ने कहा कि, आरएसएस को साफ करना चाहिए कि क्या हम एक हिंदू पार्टी नहीं हैं? बीजेपी अब झूठ बोलना बंद करे। मुझपर फडणवीस झूठ बोलने का आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि, पीएम मोदी ने मुझे छोटा भाई बताया था, लेकिन जो बयान दिए जा रहे हैं वह बड़े भाई की तरह नहीं है। महाराष्ट्र में किसानों तक कर्जमाफी का पैसा नहीं पहुंचा। कौन-सच्चा, कौन झूठा है, इसपर बीजेपी के सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं है। Uddhav Thackeray: It is very sad that while cleaning the Ganga their minds became polluted. I felt bad that we entered into an alliance with the wrong people pic.twitter.com/3ikVu9bdbv
— ANI (@ANI) November 8, 2019 मुझे अगर बीजेपी झूठा बोलेगी तो बर्दाश्त नहीं करूंगा बीजेपी पर निशाना साधते हुए ठाकरे ने कहा कि, हमने हमेशा अपना रुख साफ किया, अब वक्त है कि बीजेपी सच बोले। हमने कभी भी चर्चा बंद नहीं की थी, जब मुझे पता चला कि बीजेपी समझौते से हट रही है, तब हमने बातचीत बंद की। मुझे अगर बीजेपी झूठा बोलेगी तो बर्दाश्त नहीं करूंगा। वहीं एनपीसी और कांग्रेस के साथ गठबंधन को लेकर चल रही चर्चाओं पर ठाकरे ने कहा कि, एनसीपी और कांग्रेस से बातचीत नहीं हुई है। ठाकरे ने कहा कि, मैंने भी अटल-आडवाणीजी की कभी आलोचना नहीं की है। अभी मैंने नरेंद्र मोदी पर टिप्पणी नहीं की है, जब आलोचना की भी थी तो पॉलिसी की आलोचना थी, निजी आलोचना नहीं की। लोग जानते हैं कि शिवसेना प्रमुख और उनका बेटा झूठ नहीं बोलते। मैंने बाला साहेब को शिवसेना का सीएम बनाने का वचन दिया है। अगर बीजेपी समझौते पर रहेगी तो ठीक, नहीं तो विकल्प खुले हुए हैं।
Source: OneIndia Hindi

Related posts