सीमा पर ड्रोन मिलने के बाद सरकार सख्त, सुरक्षाबलों को दिए कार्रवाई के आदेश

पंजाब के सीमावर्ती इलाके में लगातार ड्रोन बरामद किए जा रहे हैं.

बीते कुछ दिनों में कई बार पाकिस्तानी ड्रोन (Pakistani Dron) पंजाब की सीमा (Punjab border) पर दिखाई दिए हैं. पिछले दिनों पंजाब पुलिस की ओर से कहा गया था कि तरनतारन में हाई लिफ्टिंग ड्रोन के जरिये पाकिस्‍तान की ओर से ड्रोन के जरिये एके 47, गोलियां, सैटेलाइट फोन, ग्रेनेड और नकली करंसी भारतीय सीमा पर गिराई गई थीं.

News18Hindi
Last Updated:
October 14, 2019, 12:02 AM IST

Share this:

नई दिल्ली. सीमावर्ती इलाकों में पाकिस्तान (Pakistan) की ओर से ड्रोन की मदद से रची जा साजिशों पर भारत (India) ने सख्त कार्रवाई करने का फैसला कर लिया है. मिली जानकारी के अनुसार सरकार ने सीमा पर तैनात सुरक्षाबलों को आदेश दिया है कि वे ड्रोन देखते ही मार दें. बीते कुछ दिनों के भीतर पाकिस्तान (Pakistan) से सटे पंजाब (Punajb) के सीमावर्ती इलाके में लगातार ड्रोन बरामद किए गए. इन ड्रोन्स को पाकिस्तान की ओर से भारत भेजा रहा है.समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार सुरक्षा बलों को अंतरराष्ट्रीय सीमा पर 1,000 फीट या उससे नीचे उड़ान भरने वाले ड्रोन को गोली मारने की मंजूरी दे दी गई है. पंजाब पुलिस द्वारा हाल ही में पाकिस्तान और जर्मनी के आतंकी समूह द्वारा समर्थित खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स (Khalistan Zindabad Force) के आतंकियों द्वारा पंजाब में सीमा पार से भेजे गए 80 किलो हथियार ले जाने पर कम से कम आठ ड्रोन सॉर्ट की पुष्टि के बाद यह निर्णय लिया गया है.आवश्यक जवाबी कार्रवाई शुरू करने के आदेशशुरुआती जांच से पता चला है कि सीमा पार से आतंकवादियों के हथियार और कम्युनिकेशन हार्डवेयर पहुंचाने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया था. पंजाब के मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार से भारतीय वायु सेना (आईएएफ) और सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) को आवश्यक जवाबी कार्रवाई शुरू करने को कहा था.इससे पहले, बुधवार को भी पंजाब में फिरोजपुर जिले में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवानों द्वारा एक पाकिस्तानी ड्रोन को देखा गया था. सुरक्षा बलों को इनपुट मिला कि पाकिस्तान सीमा पार हथियारों की तस्करी के लिए चीनी ड्रोन का इस्तेमाल कर रहा है.इसी साल जारी हुए हैं नए दिशानिर्देशइस साल की शुरुआत में केंद्र सरकार ने ड्रोन के लिए नए दिशानिर्देश जारी किए थे. दिशानिर्देशों के अनुसार ड्रोन रणनीतिक स्थानों, सैन्य प्रतिष्ठानों और दिल्ली के विजय चौक क्षेत्र में नहीं उड़ कर सकते हैं. नैनो ड्रोन के उपयोगकर्ता, जिनका वजन 250 ग्राम से कम है और 50 फीट तक उड़ता है, उन्हें स्थानीय पुलिस से अनुमति लेने की आवश्यकता नहीं है. 200 फीट तक उड़ने वाले माइक्रो ड्रोन और 450 फीट और उससे अधिक उड़ान भरने वाले छोटे ड्रोनों को पुलिस की अनुमति लेनी होगी.Loading… देश भर में 23 साइटों की पहचान की गई है जहां ड्रोन तकनीक को इसके आगे के उपयोग का मूल्यांकन करने के लिए व्यापक उपयोग में लाया जाएगा. मंत्रालय के तहत एक ड्रोन टास्क फोर्स ड्रोन नियम 2.0 के लिए मसौदा सिफारिशें प्रदान करेगा.ये भी पढ़ें-जल्द दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे पर 120/100 किमी/घंटे से फर्राटा भरेंगी गाड़ियांराफेल पर ऊं लिखने पर बोले राजनाथ- कांग्रेस के बयानों से पाक को मिलती है शह

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 13, 2019, 11:38 PM IST

Loading…

Source: News18 News

Related posts