बेटी से छेड़छाड़ के मामले में ‘राजीनामा’ के दबाव ने ले ली पिता की जान

प्रताड़ना से तंग आकर पिता ने की खुदकुशी.

बेटी से छेड़छाड़ (Molestation) करने के मामले में लगातार दबाव बनाए जाने से तंग आकर पिता राजेश कुर्मी (Rajesh Kurmi) ने खुदकुशी कर ली है. उन्‍होंने अपने सुसाइड नोट (Suicide Note) में स्कूल प्रबंधन (School Management) के साथ कई लोगों पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है.

Share this:

भोपाल. बेटी से छेड़छाड़ (Molestation) करने के मामले में लगातार दबाव बनाए जाने से तंग आकर एक पिता ने मौत को गले लगा लिया. सुसाइड नोट में राजेश कुर्मी (Rajesh Kurmi) ने स्कूल प्रबंधन (School Management) के साथ कई लोगों पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है. प्रताड़ित करने वालों लोगों के खिलाफ पुलिस में शिकायत भी हुई, लेकिन कार्रवाई नहीं होने की वजह से एक पिता ने इतना बड़ा कदम उठाया. सच कहा जाए तो राजेश कुर्मी के सुसाइड ने पुलिस प्रशासन की लापरवाही की पोल खोल दी है.सामाजिक संस्था-स्कूल प्रबंधन बना रहा था दबाव सागर जिले की गढ़ाकोटा पुलिस समय रहते कार्रवाई करती, तो आज एक व्यक्ति की जान बच जाती. पुलिस के पास शिकायत भी आई, लेकिन उसने कोई ध्यान नहीं दिया. पूरा घटनाक्रम राजेश कुर्मी के परिवार से जुड़ा है. दरअसल, 2018 में गढ़ाकोटा के हाईस्कूल के एक शिक्षक दिलीप जैन ने एक नाबालिग के साथ छेड़छाड़ की थी. पिता राजेश कुर्मी की शिकायत पर कार्रवाई हुई और आरोपी शिक्षक जेल में है,लेकिन इसके बाद सामाजिक संस्थानों और स्कूल के शिक्षकों के साथ छात्राओं ने आरोपी शिक्षक के पक्ष में आंदोलन छेड़ दिया. तमाम जगहों से राजेश कुर्मी पर मामला वापस लेने का दबाव बनाया गया और प्रताड़ित भी किया गया. इसकी शिकायत राजेश ने थाने में भी की, लेकिन समय रहते कार्रवाई नहीं होने पर राजेश कुर्मी ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली. अब राजेश को प्रताड़ित करने वालों पर कार्रवाई की मांग को लेकर लोगों ने चक्काजाम किया. रहवासियों का कहना है कि पुलिस समय रहते कार्रवाई करती, तो राजेश इतना बड़ा कदम नहीं उठाता.रहवासियों ने किया चक्काजामराजेश कुर्मी ने अपने सुसाइड नोट (Suicide Note) में दिलीप जैन और दो शिक्षकों के साथ हाईस्कूल की प्रिंसिपल अरुणा शास्त्री का भी नाम लिखा है. सुसाइड नोट में लिखा है कि वह जैन समाज स्कूल प्रबन्धन और अपने समाज के साथ उन लोगों से दुखी था, जो इस पर राजीनामा का दबाव बना रहे थे. थाना प्रभारी गढ़ाकोटा कमलेंद्र कलचुरी ने बताया कि सुसाइड नोट की जांच के साथ परिजनों के आरोपों की जांच भी की जा रही है. दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी.ये भी पढ़ें-MP में किसान आंदोलन की आहट, कमलनाथ सरकार के लिए बन सकती है ‘मुसीबत’Loading… MP में आज भी मशहूर ‘मामा शकुनी’ का खेल, होता है राज्‍य स्‍तरीय टूर्नामेंट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 13, 2019, 9:54 PM IST

Loading…

Source: News18 News

Related posts