Hindi Diwas 2019: जानिए हिंदी भाषा से जुड़ी कुछ रोचक बातें

‘पवित्र नदी की भूमि’, हिंदी को नाम परसियन शब्द हिंदू से मिला, जिसका मतलब है ‘पवित्र नदी की भूमि’, यह भी कहा जाता है कि सि़ंधु नदी के पास जो सभ्यता फैली उसे सिंधु सभ्यता और उस क्षेत्र के लोगों को हिंदू कहा जाने लगा, उन लोगों ने जिस भाषा का इस्तेमाल किया वो हिंदी भाषा कहलाई। यह पढ़ें: Chandrayaan 2: जानिए अंतरिक्ष और चांद के बारे में कुछ अजब-गजब बातें 500 मिलियन से भी अधिक लोग हिंदी भाषा का प्रयोग करते हैं… आपको जानकर हैरानी होगी कि पूरे विश्व में लगभग 500 मिलियन से भी अधिक लोगों द्वारा हिंदी भाषा का प्रयोग किया जाता है और यह सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषाओं में शामिल है। हिंदी सिर्फ इंडिया या पाकिस्तान में ही नहीं बल्कि इनके अलावा मॉरीशस, फिजी, गुयाना, त्रिनिदाद, टोबागो और नेपाल में भी बोली जाती है। ‘प्रेम सागर’ पहली हिंदी किताब सन् 1805 में प्रकाशित लल्लू लाल द्वारा लिखित श्रीकृष्ण पर आधारित किताब ‘प्रेम सागर’ को हिंदी में लिखी गई पहली किताब माना जाता है। पहला हिंदी टाइपराइटर बाजार में 1930 के दशक में आया था। हिंदी का पहला बेवपोर्टल वेबदुनिया डॉट कॉम है। विश्व के 176 विश्वविद्यालयों में हिंदी पढ़ाई जाती है.. अंग्रेजी की रोमन लिपि में जहां कुल 26 वर्ण हैं, वहीं हिंदी की देवनागरी लिपि में उससे दोगुने 52 वर्ण हैं। यूनाईटेड स्टेट ऑफ अमेरिका के लगभग 45 विश्वविद्यालय सहित पूरे विश्व के लगभग 176 विश्वविद्यालयों में हिंदी पढ़ाई जाती है।
Source: OneIndia Hindi

Related posts