देशभर में बारिश का रौद्र रूप, 20 से ज्यादा की मौत, पानी में बही सड़कें

Publish Date:Sun, 14 Jul 2019 01:48 PM (IST)

नई दिल्ली, जेएनएन। देश के ज्यादातर हिस्सों में मानसून की भारी बारिश आफत बनकर आई है। देश के कई हिस्से इस वक्त बाढ़ की चपेट में हैं। नदियों का जल स्तर बढ़ने के कारण अमस और बिहार के कई इलाके जलमग्न हो गए है। असम में बाढ़ से अबतक 7 लोगों की मौत हो गई है, जबकि बिहर में बाढ़ से मरने वालों का आंकड़ा 13 पहुंच गया है। मौसम विभाग ने आने वाले 24 घंटे भारी बारिश का आलर्ट जारी किया है।
भारी बारिश के बाद असम के नागांव इलाके में ब्रह्मपुत्र नदी का पानी घुसने के बाद सड़क टूट गई।

#WATCH Roads washed away as water from Brahmaputra river enters Nagaon area in Morigaon, in Assam. #AssamFloods pic.twitter.com/Mp26AI7MA6
— ANI (@ANI)
July 14, 2019

बिहार के फोर्ब्सगंज में पानी से भरी सड़क को एक नवविवाहित जोड़े ने प्लास्टिक के ड्रमों से बनी नाव पर बैठकर पार किया।

#WATCH A bride and a groom cross a flooded street in Forbesganj on a makeshift pontoon boat made out of plastic drums. (13.07.19) pic.twitter.com/QA9U1HzCXi
— ANI (@ANI)
July 14, 2019

राहत-बचाव में जुटी सेना की टीमअसम और अरूणाचल प्रदेश के ऊपरी जिलों में हो रही मूसलाधार बारिश से ब्रह्मापुत्र समेत कई नदियां उफान पर हैं। इस वजह से प्रदेश के 17 जिलों में बाढ़ की वजह से लगभग 4.5 लाख लोग प्रभावित हुए हैं। लगातार हो रही बारिश की वजह से 7 लोगों की मौत हो गई है। शुक्रवार से सेना और एनडीआरएफ की टीमें पानी में फंसे लोगों को बाहर निकालने में जुटी हुई हैं।

काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान जलमग्नअसम में विनाशकारी बाढ़ के कारण काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान और उसके 95 शिविर 70 प्रतिशत पानी में डूब गए हैं। स्थिति की गंभीरता को ध्यान में रखते हुए वन अधिकारियों को ड्यूटी पर बने रहने के लिए कहा गया था साथ ही छुट्टियों को रद्द कर दिया गया है।

बिहार में अबतक 13 लोगों की मौतबिहार में लगातार हो रही भारी बारिश की वजह से कोसी नदी का जल स्तर बढ़ गया है। पूर्वी बिहर में कोसी-सीमांचल की नदियां उफान पर हैं। नदियों में उफान से निचले इलाके में बाढ़ का पानी घुस गया। इस दौरान घर गिरने और पानी भरे गड्ढे में डूबने से लगभग 13 लोगों की मौत हो गई है। पश्चिम चंपारण में गंडक का जलस्तर तेजी से बढऩे के कारण हाईअलर्ट पर रखा गया है। राजधानी पटना में गंगा नदी के जलस्तर में बढ़ोतरी देखी जा रही।

24 घंटे में जमकर हुई बारिशमानसून की भारी बारिश से पश्चिम बंगाल के कई इलाके प्रभावित हो गए हैं। लगातार हो रही बारिश से दार्जिलिंग, कूचबिहार और जलपाईगुड़ी में जल जमाव हो गया है। मौसम विभाग के अनुसार पिछले 24 घंटों में जलपाईगुड़ी में 154.60 मिमी, कूचबिहार में 197.40 मिमी और सिलीगुड़ी- 97 मिमी बारिश दर्ज की गई है।

पानी में डूबे कई इलाकेउत्तर प्रदेश के 14 जिलों में मूसलाधार बारिश की वजह से पिछले तीन दिनों के अंदर 15 लोगों की मौत हो गई है। आधिकारिक डाटा के अनुसार 9 जुलाई से 12 जुलाई तक राज्य में अबतक 15 लोगों और 23 जानवरों की मौत हो गई है। वहीं 133 बिल्डिंग ढह गई हैं। मूसलाधार बारिश से प्रभावित होने वाले क्षेत्रों में प्रयागराज, गौरखपुर, कानपुर नगर, पीलीभित सौनभद्रा, चंदौली, फिरोजाबाद, मऊ और सुल्तानपुर शामिल हैं।

हालात पर गृह मंत्री अमित शाह की नजरबाढ़ के हालात से निपटने के लिए गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार को उच्च स्तरीय बैठक की। इस बैठक का आयोजन बाढ़ की स्थिति और इससे निपटने के लिए राज्य और केंद्रीय मंत्रालयों और एजेंसियों की तैयारियों की समीक्षा के लिए किया गया था।
Posted By: Manish Pandey

Source: Jagran.com

Related posts

Leave a Comment