इमेज बदलने के लिए तैयार हैं नवाजुद्दीन, ‘बोले चूड़ियां’ में होगा बेहद दिलचस्प किरदार

बॉलीवुड अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी अपनी अगली फिल्म ‘बोले चूड़ियां’ में एक चूड़ी बेचने वाले की किरदार में दिखाई देने वाले हैं. नवाजुद्दीन का किरदार इस फिल्म में कही ज्यादा दिलचस्प होने वाला है. दरअसल, नवाजुद्दीन चूड़ी विक्रेता के रूप में गांव की लड़कियों संग रोमांस करते हुए एक रैप गीत पर परफॉर्म करते नजर आएंगे. इसे देखकर लगता है कि नवाजुद्दीन इस फिल्म के साथ अपनी छवि बदलने को बिल्कुल तैयार हैं.राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता इस अभिनेता ने बॉलीवुड में अपने लंबे संघर्ष के बाद अनुराग कश्यप के ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ में फैजल के किरदार को बखूबी निभाकर प्रशंसा के पात्र बने थे. इसके बाद हालिया फिल्में जैसे कि ‘मंटो’, ‘ठाकरे’और ‘फोटोग्राफ’ में शानदार अभिनय के बाद शायद अब उन्हें यह लगता है कि अपनी छवि से उन्हें एक छोटा सा ब्रेक लेने की आवश्यकता है.’बोले चूड़ियां’ के प्रचार में शनिवार की शाम को नवाजुद्दीन ने पत्रकारों से बातचीत की और इस दौरान वह एक रैपर के रूप में अपने अनुभव के बारे में बात करने में ज्यादा उत्साहित नजर आए.फिल्म के टाइटल सॉन्ग ‘स्वैगी चूड़ियां’ में अपने रैप के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, “मैं एक गायक नहीं हूं, लेकिन मुझे कहना पड़ेगा कि एक गीत को रैप करने का अनुभव बिल्कुल अलग है. हां, मैंने गीत के बोल को सीखा और इसका अभ्यास किया, लेकिन कहीं न कहीं यह संगीत निर्देशक ही थे जिन्होंने इस परफॉर्मेंस को मुझसे निकाला.” फिल्म में नवाज इस रैप गीत को गाते हुए चूड़ियां बेचते नजर आएंगे.हो सकता है कि ‘बोले चूड़ियां’ के साथ नवाज अपनी छवि को बदल रहे हैं, लेकिन हमेशा अपने किरदारों के बारे में परफेक्ट रहने वाले नवाज ने इस गीत को गाने के अपने निर्णय के बारे में लोगों को समझाते हुए कहा, “आने वाले समय में गायक बनने की मेरी कोई चाह नहीं है, लेकिन इस विशेष रैप गीत में कुछ ऐसी देसी बात थी जो मेरी आवाज के साथ बिल्कुल सही जाता है. इस वजह से उन्होंने मुझसे इस गीत को गाने के लिए कहा.”नवाजुद्दीन ने आगे यह भी कहा, “जब मैं छोटा था, मैं मोहम्मद रफी और किशोर कुमार के गाने सुना करता था. मैं उनका प्रशंसक हूं.”‘बोले चूड़ियां’ रोमांटिक-ड्रामा शैली की एक फिल्म है और यह फिल्म नवाज के लिए इसलिए भी ज्यादा महत्वपूर्ण है क्योंकि इस फिल्म से उनके भाई शमास नवाज सिद्दीकी निर्देशन के क्षेत्र में कदम रखने जा रहे हैं. शमास को भी इस फिल्म के सफल होने का इंतजार है ताकि इंडस्ट्री में उनकी लॉचिंग अच्छे से हो सके.नवाज की यह फिल्म पहले ही चर्चा का विषय उस वक्त बनी थी जब फिल्म की मुख्य अभिनेत्री मौनी रॉय को लेकर विवाद खड़ा हुआ था. पहले मौनी इस फिल्म की मुख्य अभिनेत्री थीं, लेकिन बाद में उनके ‘अनप्रोफेश्नल व्यवहार’ को देखते हुए उन्हें फिल्म से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया और बाद में उनकी जगह अभिनेत्री तमन्ना भाटिया को नवाज के विपरीत कास्ट किया गया.हालांकि नवाज से इस बारे में पूछने पर उन्होंने बड़ी ही चतुराई से इसका जवाब देते हुए कहा, “देखिए मैं फिल्म में एक कलाकार के तौर पर काम कर रहा हूं और मैं सिर्फ यही कहूंगा कि हम खुशकिस्मत हैं कि तमन्ना इस फिल्म से जुड़ीं.”नवाज ने आगे कहा, “फिल्म के निर्माता और अभिनेत्री के बीच क्या हुआ ये उनका मसला है. मैं इस पर टिप्पणी नहीं करूंगा, लेकिन मैं तमन्ना के साथ काम करने के लिए उत्साहित हूं.” फिल्म की कहानी उत्तर प्रदेश की पृष्ठभूमि पर आधारित होने की वजह से यह नवाज के दिल के बहुत करीब है क्योंकि यह स्थान नवाज की पैतृक भूमि रही है.इस फिल्म के साथ नवाज पहली बार अपने भाई के साथ काम करने जा रहे हैं. नवाज अनुराग कश्यप और राजपाल यादव के साथ काम करने के लिए भी बेहद उत्साहित हैं. अनुराग कश्यप को नवाज अपना दोस्त मानते हैं जिन्होंने नवाज को उनके करियर का एक बड़ा ब्रेक ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ दिया था. अनुराग और नवाज ने कलाकार के तौर पर एक और फिल्म में काम किया है जिसका नाम है ‘घूमकेतु’ जिसका रिलीज होना अभी बाकी है.
Source: ABP News

Related posts