आंध्र प्रदेश: कर्ज के ‘फंदे’ में झूल गया एक और किसान, पेड़ से लटककर की आत्महत्या

Publish Date:Fri, 12 Jul 2019 12:39 PM (IST)

श्रीकाकुलम, एएनआइ। आंध्र प्रदेश के श्रीकाकुलम जिले में एक किसान ने आत्महत्या कर ली। श्रीकाकुलम जिले के मंडसा गांव में हुई इस घटना में किसान ने पेड़ से लटककर आत्महत्या कर ली । मंडसा गांव के सब इंस्पेक्टर के मुताबिक, ‘उसने खुद को पेड़ से लटक कर आत्महत्या कर ली है। वहीं किसान के परिवार का कहना है कि उसने कर्ज चुकाने में असमर्थता के कारण आत्महत्या कर ली। फिलहाल हम मामले की जांच कर रहे हैं।’

Andhra Pradesh: Farmer committed suicide in Mandasa village of Srikakulam dist y’day. C Prasad, Sub Inspector Mandasa,says,“He committed suicide by hanging himself to a tree. Family says he committed suicide due to inability to repay debts.FIR filed. We’ll investigate the matter” pic.twitter.com/9NGDFkpGe5— ANI (@ANI)
July 12, 2019

पांच सालों में किसानों की आत्महत्याआंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाइएस जगनमोहन रेड्डी ने बताया है कि राज्य में 2014 से 2019 के बीच 1,513 किसानों ने आत्महत्या की है। उन्होंने बताया कि डिस्ट्रिक्ट क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के आंकड़ों के मुताबिक, राज्य में 2014 से 2019 के दौरान 1,513 किसानों ने आत्महत्या की, लेकिन सिर्फ 391 परिवारों को ही मुआवजा दिया गया है। इसके बाद उन्होंने पीड़ित परिवारों को सात-सात लाख रुपए की मुआवजा राशि देने के निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा कि पूर्व सीएम एन चंद्रबाबू नायडू की सरकार ने अन्य कारणों का हवाला देकर बाकी पीड़ितों को मुआवाज देने से इनकार कर दिया था। वाइएस जगनमोहन रेड्डी ने सभी कलेक्टरों को यह निर्देश दिए कि वह किसानों के पीड़ित परिवार तक सात-सात लाख की मुआवजा राशि पहुंचाएं।

Posted By: Shashank Pandey

Source: Jagran.com

Related posts

Leave a Comment