फिल्म जगत के ‘सोशल कल्चर’ में बहने से बचने की कोशिश करती हूं : तापसी पन्नू

मुंबई: बॉलीवुड अभिनेत्री तापसी पन्नू ने कहा कि वह बॉलीवुड के ‘सोशल सर्कल’ में बहुत अधिक सक्रिय नहीं है और यही उन्हें जमीन से जोड़े रखता है. तापसी ने कहा कि वह अपनी सफलता को गंभीरता से नहीं लेती क्योंकि वह इस उद्योग की अनिश्चितता के बारे में अच्छे से जानती हैं.उन्होंने कहा, “मैं जानबूझ कर फिल्म उद्योग की सामाजिक संस्कृति से प्रभावित नहीं होती हूं और जमीन से जुड़े रहने के लिए मेरी जिंदगी को जितना संभव हो वास्तविक रखने की कोशिश करती हूं. क्योंकि मैं जानती हूं कि एक दिन यह सब खत्म हो जाएगा और मैं अपनी जिंदगी को मुश्किल नहीं बनाना चाहती हूं.”उन्होंने कहा, “मैं उनके साथ खूब मस्ती-मजा करती हूं लेकिन जब मैं छुट्टी पर होती हूं तो यह नहीं है कि मैं जिन लोगों के साथ काम करती हूं उनके पास जाकर सामाजिक मेल-जोल बढ़ाऊं. कहीं न कहीं आपकी बात फिल्मों पर ही जाकर खत्म होती है क्योंकि यही आपको आपस में जोड़ता है.”हालांकि तापसी ने कहा कि फिल्में बस उनके जीवन का हिस्सा भर हैं और “यही सबकुछ है” ऐसा नहीं है.उन्होंने कहा, “अगर जिंदगी में किसी मोड़ पर यह (अभिनय) काम नहीं आया तो मैं कुछ और करने में सक्षम हूं. मैंने कभी नहीं कहा कि मैं उनमें से हूं जो शीशे के सामने खड़े होकर अभिनेत्री बनने का सपना देखती हैं. नहीं, मैंने अभिनेत्री बनने का फैसला अपनी पहली फिल्म रिलीज होने के बाद किया. धीरे-धीरे मैंने पैर जमाए.”
Source: ABP News

Related posts