धर्म के लिए ‘दंगल गर्ल’ ने बॉलीवुड को कहा अलविदा

नई दिल्ली: दंगल फेम एक्ट्रेस जायरा वसीम अचानक से सुर्ख़ियों में हैं और इसकी वजह उनकी सोशल सोशल पोस्ट है. दरअसल, सीक्रेट सुपरस्टार फेम नेशनल अवॉर्ड विनर एक्ट्रेस जायरा वसीम ने लिखा कि वो बॉलीवुड को अलविदा कह रही हैं. बताने की जरूरत नहीं कि जल्द ही द स्काई इज पिंक में नजर आने वाली जायरा वसीम बॉलीवुड की टैलेंटेड एक्ट्रेसेस में शुमार की जाती हैं. उनके अचानक एक्टिंग छोड़ने के ऐलान से सभी हैरान हैं. उधर पूरे मामले पर जायरा के मैनेजर की सफाई भी आ गई है.

जायरा ने क्या लिखा?
जायरा वसीम ने लिखा, “5 साल पहले मैंने एक ऐसा फैसला लिया, जिसने मेरी जिंदगी को हमेशा के लिए बदल दिया. मैंने जैसे ही बॉलीवुड में कदम रखा, मेरे लिए पॉपुलर होने के कई रास्ते खुल गए. मुझे लोगों की अटेंशन मिलने लगी. कई बार मुझे युवाओं का रोल मॉडल भी माना गया. हालांकि ये सब वो नहीं था, जिसकी मैंने ख्वाहिश की थी. खासकर सक्सेस और फैलियर को लेकर.”
एक्ट्रेस ने लिखा, “आज मुझे बॉलीवुड में 5 साल पूर हो गए हैं. मैं यह बताना चाहती हूं कि मैं अपनी इस पहचान और जो काम मैं कर रही हूं मैं उससे खुश नहीं हूं. लंबे समय से मुझे ऐसा लग रहा है कि मैं कुछ दूसरी इंसान बनने की जद्दोजहद में लगी हुई हूं. मुझे इस बात का एहसास हो चुका है कि जिन चीजों को मैं वक्त दे रही हूं, जिन चीजों के लिए मेहनत कर रही हूं और जो नई लाइफस्टाइल अपनाने की कोशिश कर रही हूं, उन तमाम चीजों में मैं फिट तो हो सकती हूं, मगर मैं इन चीजों के लिए नहीं बनी हूं.”
जायरा ने लिखा, “इस क्षेत्र (फिल्मी दुनिया) ने वास्तव में मुझे बहुत प्यार, समर्थन और प्रशंसा दिया है, लेकिन इसने मुझे अज्ञानता के रास्ते पर ले जाने का काम भी किया, क्योंकि मैं चुपचाप और अनजाने में ‘ईमान’ से भटक गई (अल्लाह की इबादत में मुस्लिमों का दृढ़ मार्ग).”
“जब मैंने ऐसे माहौल में काम करना जारी रखा जो लगातार मेरे ईमान में दखल दे रहा था, तो मेरे धर्म के साथ मेरा रिश्ता खतरे में पड़ गया था. लेकिन मैं इस बात को इग्नोर करते हुए अपना काम कर रही थी और खुद को इस बात के लिए मा रही थी कि जो मैं कर रही हूं वो सब सही है. इससे मुझे फर्क नहीं पड़ रहा है. लेकिन मेरी जिंदगी से बरकत पूरी तरह से खत्म हो गई. बरकत सिर्फ आपकी जिंदगी की खुशियों और अच्छी जिंदगी को ही नहीं दर्शाती है बल्कि ये जीवन में ठहराव और सुकून से भी जुड़ी है. ”
“मैं लगातार अपनी आत्मा से लड़ाई लड़ रही थी और अपने ईमान की एक साफ और स्थिर तस्वीर अपने जहन में बिठाने की कोशिश कर रही थी. लेकिन ऐसा करने पर मैं एक बार नहीं बल्कि 100 बार बुरी तरफ नाकामयाब हुई. इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है कि अपने फैसले पर टिके रहने के लिए मैंने कितनी लड़ाई की है. लेकिन आखिर में मैं हमेशा इस बात पर आकर रुक जाती हूं कि मैं खुद को बदलूंगी, मैं जल्दी खुद को बदलूंगी.”
[embedded content]
Source: HW News

Related posts