एक ही कार्ड में डेबिट और क्रेडिट की सुविधा देते हैं ये बैंक, जानें क्‍या है इसके फीचर्स

Publish Date:Sun, 30 Jun 2019 02:00 PM (IST)

नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। एक समय था जब लोग जेब में हमेशा नकद लेकर घूमा करते थे, लेकिन आज क्रेडिट कार्ड ने लोगों के जीवन को आसान बना दिया है। क्रेडिट कार्ड की वजह से लोगों को अब खरीदारी के लिए अधिक नकद रखने की जरूरत नहीं पड़ती है। इन दिनों लोग कई कार्ड एक साथ ले जाते हैं जो काफी परेशानी पैदा कर सकता है। अगर आपका पर्स खो जाए तो ऐसे में डेबिट कम क्रेडिट कार्ड मददगार साबित हो सकता है।यूनियन बैंक ऑफ इंडिया और इंडसइंड बैंक डेबिट कम क्रेडिट कार्ड ऑफर कर रहे हैं। आपको कई कार्ड एक साथ ले जाने की जरूरत नहीं है। यह एक कार्ड है जो क्रेडिट और डेबिट कार्ड दोनों का कॉम्बिनेशन है। इंडसइंड बैंक के डेबिट-कम क्रेडिट कार्ड को डुओ कहा जाता है और यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के कार्ड को कॉम्बो कहा जाता है।
इंडसइंड बैंक के डुओ के फीचर्स:

इंडसइंड बैंक डुओ कार्ड के जरिए खर्च किए गए प्रति 150 रुपये के लिए कार्ड होल्डर को 1 रिवार्ड प्वाइंट मिल सकता है।
कार्ड होल्डर प्रत्येक मूवी टिकट खरीदने पर प्रति माह 1 फ्री मूवी टिकट जीत सकता है।
ट्रैवल प्लस प्रोग्राम के साथ कार्ड होल्डर भारत के बाहर लाउंज उपयोग चार्ज पर खास छूट का लाभ उठा सकता है।
कार्ड होल्डर 25 लाख रुपये तक के हवाई दुर्घटना इंश्योरेंस, खोए सामान का इंश्योरेंस, पासपोर्ट या टिकट का नुकसान, मिस्ड कनेक्शन, साथ ही अपनी क्रेडिट लिमिट तक प्रोटेक्शन का फायदा उठा सकते हैं।
बैंक अकाउंट से पैसा निकालने के लिए अपना डेबिट कार्ड पिन डालकर एटीएम डेबिट कार्ड के रूप में अपने इंडसइंड बैंक डुओ कार्ड का इस्तेमाल कर सकते हैं।
कार्ड होल्डर अपने क्रेडिट कार्ड की कैश लिमिट तक एडवांस कैश प्राप्त करने के लिए अपने क्रेडिट कार्ड पिन को दर्ज करके अपने इंडसइंड बैंक डुओ कार्ड का इस्तेमाल क्रेडिट कार्ड के रूप में भी कर सकते हैं।
देश भर में किसी भी पेट्रोल पंप पर फ्यूल भरने पर 1 फीसद फ्यूल सरचार्ज माफ किया जा सकता है।
डुओ डेबिट कार्ड पर ग्राहक 25 लाख रुपये का हवाई दुर्घटना कवर, 2 लाख रुपये का सामान्य दुर्घटना मृत्यु बीमा, 3 लाख रुपये तक कार्ड खोने पर और 50 हजार रुपये की खरीद पर प्रोटेक्शन पा सकता है।

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के कॉम्बो के फीचर्स:

कार्ड होल्डर को क्रेडिट और डेबिट कार्ड की सुविधा का चयन करने में मदद करने के लिए कार्ड में 2 अलग-अलग कार्ड नंबर, अलग-अलग चिप, मैग्नेटिक स्ट्रिप और 2 अलग-अलग सीवीवी नंबर दिए गए हैं।
कार्ड होल्डर को डेबिट कार्ड के लिए ग्रीन पिन जनरेट करना होगा और क्रेडिट पिन बैंक की वेबसाइट से जनरेट किया जा सकता है। कार्ड होल्डर को क्रेडिट या डेबिट कार्ड के चयन में मदद करने के लिए कार्ड के दोनों साइड साइन दिए गए हैं।
कार्ड होल्डर डेबिट कार्ड की साइड से स्वाइप या इंसर्ट करके अपने बैंक अकाउंट से जुड़े डेबिट कार्ड के रूप में इस्तेमाल कर सकता है।
इस डेबिट और क्रेडिट कार्ड की वेलिडिटी 5 साल है।
डेबिट कार्ड का इस्तेमाल करके एटीएम से रोज 40 हजार रुपये तक निकाले जा सकते हैं और क्रेडिट कार्ड के जरिए कार्ड की लिमिट का 20 फीसद तक इस्तेमाल किया जा सकता है। 

Posted By: Sajan Chauhan

Source: jagran.com

Related posts