MeToo: तनुश्री दत्ता ने पुलिस पर लगाया गंभीर आरोप, कहा- गवाहों को दी गई धमकी

भारत में मीटू मुहिम को एक अलग मुकाम तक लेकर जाने वाली एक्ट्रेस तनुश्री दत्ता का अब अपने केस को लेकर बयान सामने आया है. बीते रोज पुलिस ने उनके द्वारा एक्टर नाना पाटेकर के खिलाफ दर्ज की गई शिकायत मामले में क्लोजर रिपोर्ट दायर कर दी है.इस मामले में पुलिस की ओर से नाना पाटेकर के लिए राहत की खबर आई है. पुलिस का कहना है कि उसे नाना पाटेकर के खिलाफ कोई ठोस सबूत नहीं मिले हैं. मुंबई पुलिस ने गुरुवार को अभिनेत्री तनुश्री दत्ता द्वारा अभिनेता नाना पाटेकर के खिलाफ मीटू मुहिम के तहत दायर यौन उत्पीड़न मामले में क्लोजर रिपोर्ट दाखिल कर दी.क्या कह रही है पुलिस इस मामले में दायर की गई अपनी क्लोजर रिपोर्ट पर पुलिस का कहना है कि उनके पास नाना पाटेकर के खिलाफ कोई ठोस सबूत नहीं है. मुंबई पुलिस के प्रवक्ता व पुलिस उपायुक्त मंजुनाथ शिंगे ने कहा, “हां, हमने अदालत के समक्ष बी-समरी रिपोर्ट दाखिल की है.”Tanushree Dutta alleged harassment case against Nana Patekar: Mumbai Police files a B Summary report in the case. A ‘B summary’ report is filed when police can not find evidence in support of the complaint and are unable to continue the investigation. pic.twitter.com/tVOof7WTX0— ANI (@ANI) June 13, 2019पुलिस ने कथित तौर पर पर्याप्त सबूत नहीं मिलने के बाद यह कदम उठाया है. इसके साथ ही इस मामले को एक तरह से खत्म कर दिया गया है क्योंकि पुलिस का रुख है कि वह आगे मामले में जांच जारी नहीं रख सकती.पुलिस की रिपोर्ट को देंगे चुनौती वहीं, अब इस मामले तनुश्री दत्ता के वकील नितिन सतपुते ने कहा कि वह इस मामले में पुलिस के उठाए कदम को चुनौती देंगे. सतपुते ने कहा, “यदि पुलिस समरी रिपोर्ट के किसी भी बी या सी वर्गीकरण को दर्ज करती है, तो वह अंतिम नहीं हो सकती. हम न्यायालय के समक्ष इसका विरोध करेंगे. सुनवाई के बाद, यदि अदालत संतुष्ट हुई तो वह पुलिस को फिर से जांच करने का निर्देश दे सकती है.”उन्होंने पुलिस पर पूरे मामले में कई अन्य गवाहों के बयान दर्ज न करने और ‘आरोपी की सुरक्षा के लिए’ केवल ‘एक या दो’ गवाहों के बयानों पर भरोसा करने को लेकर निशाना साधा और मामले में ठीक से जांच नहीं करने का आरोप लगाया. सतपुते ने कहा, “इस सबके मद्देनजर हम बी समरी रिपोर्ट का विरोध करेंगे और बॉम्बे उच्च न्यायालय के समक्ष एक रिट याचिका भी दायर करेंगे.”तनुश्री दत्ता ने पुलिस पर लगाए गंभीर आरोपतनुश्री दत्ता ने गुरुवार को एक बयान में कहा, “हमारे गवाहों को डराया धमकाया गया है और मामले को कमजोर करने के लिए नकली गवाहों को रखा गया है. जब मेरे सभी गवाहों ने अभी तक अपने बयान दर्ज नहीं किए हैं, तो बी समरी रिपोर्ट दाखिल करने के लिए क्या हड़बड़ी थी? मैं बिल्कुल भी हैरान नहीं हूं और ना ही आश्चर्य में हूं, भारत में एक महिला होने के नाते यह एक ऐसी चीज है, जिसकी हम सभी को आदत है.”Tanushee Dutta statement: A corrupt police force & legal system giving a clean chit to an even more corrupt person Nana who has been accused even in the past of bullying,intimidation and harassment by several women in the film Industry. https://t.co/p2zNNTn50I— ANI (@ANI) June 13, 2019क्या है मामलामीटू मुहिम विश्व स्तर पर उन महिलाओं द्वारा शुरू की गई जिनको कभी न कभी किसी स्तर पर यौन उत्पीड़न का सामना करना पड़ा और जिसका खुलासा वे तत्काल न कर इस मुहिम के जरिए कर सकीं.तनुश्री दत्ता ने सितंबर 2018 में पाटेकर के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी, जिसमें उन्होंने एक दशक पहले, 2008 में एक फिल्म की शूटिंग के दौरान की घटना का जिक्र करते हुए नाना पर कथित यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था. पाटेकर ने उनके द्वारा लगाए गए आरोपों का खंडन किया था.
Source: ABP News

Related posts