Metoo के बाद अब आया MenToo, झूठे रेप व शोषण के आरोपों पर पुरुष तोड़ रहे चुप्पी

पिछले साल भारत में मीटू मूवमेंट का शोर काफी सुनाई दिया. इस मुहिम के चलते आरोपों और प्रत्यापों का सिलसिला काफी लंबा चला. मीटू के तहत कई महिलाएं आगे आईं और उन्होंने अपने साथ हुए यौन शोषण को लेकर खुलकर बात की. सबसे ज्यादा मामले एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री से सुनने में आए और इन्हें खूब मीडिया कवरेज भी मिला.लेकिन इस मुहिम के चलते कई ऐसे मामले भी सामने आए जिनमें आपसी नाराजगी या मतभेदों के चलते पुरूषों पर शोषण के झूठे आरोप लगाए गए. ऐसे में कई पुरुषों को बदनामी और समाज में भी काफी तकलीफों का सामना करना पड़ा. अब मीटू के जवाब में पुरुषों को लेकर भी मुहिम शुरू हो गई जिसमें पुरुष अपनी आपबीती और उन पर लगे झूठे आरोपों की कहानी बता रहे हैं.क्या है #MenTooसोशल मीडिया पर इन दिनों हैशटैग मेन टू ट्रेंड कर रहा है. इस हैशटैग का इस्तेमाल करके पुरुष अपने बुरे अनुभवों को साझा कर रहे हैं. इसके तहत पुरुष अपनी आपबीती बताते हुए खुलासा कर रहे हैं कि किस तरह मीटू के चलते या इससे इतर आपसी सहमति से बने संबंधों को जबरन रेप करार दे दिया गया…और इन झूठे आरोपों के चलते उन्हें समाज में घृणा की नजर से देखा जाने लगा. इतना ही नहीं झूठे आरोपों के चलते उन्हें कानूनी लड़ाई लड़नी पड़ी और कोर्ट से भी उन्हें बहुत ज्यादा सहायता नहीं मिल सकी. इतना ही नहीं इन आरोपों के चलते सिर्फ आरोप ही नहीं बल्कि उनके परिवार वालों को भी कई परेशानियों का सामना करना पड़ा.Devendra Fadnavis: #MENTOO needs your support to stop misuse of laws – Sign the Petition! https://t.co/Ruizdmclzk via @ChangeOrg_India— Sharath (@coorgimpex) June 11, 2019करण ओबेरॉय की हो रही चर्चाइन दिनों मेनटू को लेकर एक्टर करण ओबेरॉय का मामला चर्चा में बना हुआ है. इसके तहत उनके समर्थन में कई सेलेब्स सामने आए हैं और उन्हें निर्दोष बताया है. हालांकि अभी मामला कोर्ट में है और हाल ही उन्हें एक महीने कस्टडी में रहने के बाद जमानत दी गई है. इस केस में अभी तक कई मोड़ सामने आ चुके हैं. ये भी सामने आया था कि पीड़िता ने स्वयं ही खुद पर हमला करवाने की झूठी साजिश रची थी.एकट्रेस पूजा बेदी ने इस मामले को लेकर ट्वीट किया. उन्होंने लिखा कि पुलिस को इसका जांच करनी चाहिए और सामने लाना चाहिए कि किस प्रकार झूठे आरोपों के चलते पुरुषों को परेशानियों का सामना कर पड़ता है.Yes !!! The nexus between cops and misuse of laws & corruption must also be brought to light. Every aspect of how #fake cases are a manipulation of laws and system &for gain/extortion must be COUNTERED with new legislation 2 protect men.#MenToo @timesofindia @vineetjaintimes https://t.co/EW2uJvc0Cw— Pooja Bedi (@poojabeditweets) June 11, 2019क्या था मीटू मूवमेंटमीटू मूवमेंट की शुरुआत यूं तो वेस्ट के देशों से हुई थी लेकिन धीरे-धीरे इसकी गूंज पूरे विश्व में सुनाई दी. भारत में इस मुहीम को तनुश्री दत्ता ने हवा दी जब उन्होंने बॉलीवुड के जानेमाने एक्टर नाना पाटेकर पर शोषण और बदलूकी के आरोप लगाए. इसके बाद कई जाने माने और इंडस्ट्री में खासा रुतबा रखने वाले लोगों के नाम सामने आए जिनमें साजिद खान, विकास बहल और आलोकनाथ जैसे नाम शामिल हैं.

Source: ABP News

Related posts