44 साल पुरानी इस स्कीम से भारत को हटा सकता है अमेरिका, जानें पूरा मामला

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने तुर्की को टैरिफ में छूट की सामान्य व्यवस्था (GSP) का लाभ बंद कर दिया है.

पीटीआई

Updated: May 17, 2019, 9:16 PM IST

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने तुर्की को टैरिफ में छूट की सामान्य व्यवस्था (GSP) का लाभ बंद कर दिया है. अमेरिका व्यापार में जीएसपी के तहत गरीब और पिछड़े देशों के रोजगार प्रधान माल को अपने बाजार में शुल्क मुक्त प्रवेश की सुविधा देता है. अमेरिका ने भारत को भी GSP की छूट खत्म करने का नोटिस दे रखा है लेकिन अभी इस पर अंतिम निर्णय नहीं हुआ है. (ये भी पढ़ें: दुनिया के इन देशों में होता है सबसे ज्यादा आम, जानिए भारत का नंबर)क्या है GSPGSP अमेरिका का सबसे बड़ा और पुराना व्यापार तरजीही कार्यक्रम है. यह कार्यक्रम चुनिंदा लाभार्थी देशों के हजारों उत्पादों को शुल्क से छूट देकर आर्थिक वृद्धि को बढ़ावा देने के लिए शुरू किया गया था. तुर्की का जीएसपी (सामान्य तरजीही व्यवस्था) लाभार्थी देश का दर्जा 17 मई से समाप्त हो गया. राष्ट्रपति ट्रंप ने 4 मार्च को घोषणा की थी कि अमेरिका का भारत और तुर्की को दिए गए तरजीही व्यापार वाले देश के दर्जे को समाप्त करने का इरादा है.ये भी पढ़ें: दे दे प्यार दे के बाद अजय देवगन जून में लॉन्च करेंगे ये बड़ा प्रोजेक्ट!वॉइट हाउस या अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधि (USTR) ने भारत के GSP दर्जे को लेकर फिलहाल कुछ नहीं कहा है. माना जा रहा है कि इसकी घोषणा किसी भी समय हो सकती है. हालांकि, कुछ अपुष्ट खबरों में यह भी कहा गया है कि अमेरिका के वाणिज्य मंत्री विल्बर रॉस की हाल में हुई भारत यात्रा के बाद, अमेरिका भारत में चल रहे लोकसभा चुनावों तक उसके (भारत) GSP दर्जे को लेकर कोई भी आधिकारिक घोषणा नहीं करने पर राजी है.ये भी पढ़ें: 31 मई तक खाते में रखें 342 रुपये, नहीं तो 4 लाख का होगा लॉसहाल के हफ्तों में, अमेरिका के कई सांसदों और उद्योग प्रतिनिधियों ने ट्रंप सरकार को पत्र लिखकर भारत में नई सरकार के गठन होने तक अपने आदेश को रोक कर रखने का आग्रह किया है. लेकिन ट्रंप सरकार की ओर से इस संबंध में अब तक कुछ नहीं कहा गया है. ट्रंप ने गुरुवार को जारी आधिकारिक घोषणा में कहा कि उन्होंने निर्धारित किया है कि लाभार्थी विकासशील देश के रूप में तुर्की का दर्जा 17 मई 2019 को समाप्त हो रहा है. अमेरिका ने तुर्की को 1975 में जीएसपी लाभार्थी विकासशील देश का दर्जा दिया था.Loading… ये भी पढ़ें-खुशखबरी! इस स्कीम से इन्फोसिस कर्मचारी हो जाएंगे करोड़पति! बोर्ड बैठक में मिली मंज़ूरीएक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

Loading…

Source: News18 News

Related posts