INLD ने जारी की उम्मीदवारों की पहली लिस्ट, केवल एक मौजूदा सांसद को मिला टिकट

किसको कहां से दिया टिकट सिरसा सीट से सांसद चरणजीत सिंह ने साल 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी (एचपीसीसी) के प्रमुख अशोक तंवर को हराया था। ऐसे में पार्टी ने एक बार फिर उनको सिरसा सीट से चुनाव मैदान में उतारने का फैसला किया है। इनेलो ने यमुनागर के पूर्व मेयर राम पाल बाल्मीकि को अंबाला सीट से चुनाव लड़ाने का फैसला किया है। राम पाल की गिनती पार्टी समर्पित कार्यकर्ताओं में होती है। करनाल सीट से धर्मबीर को बनाया उम्मीदवार अभय ने मीडिया से कहा कि वह चार बार नगर निगम के पार्षद बने रहे और मेयर बनने से पहले डिप्टी मेयर भी रहे। हरियाणा की करनाल लोकसभा सीट से इनेलो ने धर्मबीर को मैदान में उतारा है। धरमबीर के बारे में बताते हुए अभय ने कहा कि उनके पिता एख स्वतंत्रता सेनानी थे, वे धर्मपुर के पढा गांव से आते हैं। इसके अवाला वो करनाल जिले में असंध से पार्टी प्रभारी भी है। हिसार से इनेलो ने पार्टी कार्यकर्ता सुरेश कोथ को मैदान में उतारने का फैसला किया है। सुरेश लंबे समय से किसानों के मुद्दे को उठाते रहे हैं उन्होंने साल 2016 में जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान भी काफी अहम भूमिका निभाई थी। करनाल सीट से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें अभय सिंह चौटाला ने बीजेपी पर बोला हमला जबकि सोनीपत सीट से पार्टी ने सुरिंदर चिकारा को मैदान में उतारा है। चिकारा आईएनएलडी के कार्यसमिति प्रभारी भी हैं। फरीदाबाद सीट से आईएनएलडी के जिला अध्यक्ष महेंद्र सिंह चौहान संसदीय राजनीति में अपनी शुरुआत करेंगे। इस दौरान अभय ने सिरसा के सांसद चरणजीत सिंह रोरी की एक हालिया घटना के बारे में जिक्र करते हुए उनकी प्रशंसा की। मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए, अभय चौटाला ने बीजेपी पर जमकर हमला बोला और दावा किया कि पूरे हरियाणा में बीजेपी को लोगों के गुस्से का सामना करना पड़ रहा है। कई जगहों पर काले झंडे भी दिखाए गए हैं। यह भी पढ़ें- भाजपा की नई लिस्ट, साध्वी प्रज्ञा को भोपाल से टिकट
Source: OneIndia Hindi

Related posts