केरल BJP अध्यक्ष का विवादित बयान, कहा-मुस्लिमों की पहचान ‘उनके कपड़े खोलने’ से हो जाएगी

‘मुस्लिमों की पहचान उनके कपड़े खोलने से हो जाएगी’ रविवार को अट्टिंगल में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए पिल्लई ने कहा कि मुस्लिमों की पहचान ‘उनके कपड़े खोलने’ से हो जाएगी, आपको बता दें कि उन्होंने यह बयान मुस्लिमों की चली आ रही प्रथा ‘खतना’ के संबंध में दिया है। ‘हमारे सैनिकों को मारे गए लोगों की गिनती करनी चाहिए’ दरअसल बीजेपी की उम्मीदवार शोभा सुरेंद्रन के समर्थन में प्रचार करने अट्टिंगल पहुंचे श्रीधरन पिल्लई ने कहा कि कुछ लोगों को एयर स्ट्राइक का सबूत चाहिए, राहुल गांधी, येचुरी और पिनारई विजयन कह रहे हैं कि हमारे सैनिकों को वहां जाकर मारे गए लोगों की गिनती करनी चाहिए.. उनकी जाति, धर्म, इत्यादि के बारे में बताना चाहिए तो मैं यही कहूंगा कि अगर वो मुस्लिम हैं, तो उसके कुछ निशान भी होंगे, तो इसके लिए कहूंगा कि यदि आप उनके कपड़े हटाएंगे तो आपको पता चल जाएगा कि वो मुस्लिम थे या नहीं, अब हमें यही सब करना होगा क्योंकि लोगों को सबूत चाहिए। पिल्लई के बयान पर मचा सियासी बवाल केरल बीजेपी अध्यक्ष के इस बयान से राज्य में सियासी भूचाल आ गया है, सीपीआई ने आचार संहिता उल्लंघन का आरोप लगाते हुए चुनाव आयोग से इसकी शिकायत की है, उसने कहा कि पिल्लई का दिया यह बयान एक विशेष समुदाय को टारगेट करता है और साथ ही उनकी गंदी सोच को व्याखित करता है, ऐसे में उन पर चुनाव आयोग को एक्शन लेना चाहिए। कांग्रेस ने की पिल्लई की कड़ी निंदा, चुनाव आयोग जाने की दी धमकी तो वहीं कांग्रेस ने कहा है कि केरल बीजेपी अध्यक्ष का यह बयान मुस्लिम धर्म का अपमान है, इसके लिए उन्हें सार्वजनिक रूप से माफी मांगनी चाहिए, यदि वो ऐसा नहीं करते हैं तो वो उनके खिलााफ चुनाव आयोग जाएंगे। यह पढ़ें: चुनाव प्रचार पर 48 घंटे के रोक पर क्या बोलीं बसपा प्रमुख मायावती ? पिल्लई ने सारी बातों से इंकार कर दिया है… जबकि पिल्लई ने सारी बातों से इंकार कर दिया है, उन्होंने कहा कि मैंने किसी पर कोई विवादित बयान नहीं दिया है, अगर मेरे खिलाफ लोग चुनाव आयोग जाते हैं तो मैं कानूनी कार्रवाई करूंगा क्योंकि मैंने किसी पर कोई विवादित टिप्पणी नहीं की है।
Source: OneIndia Hindi

Related posts