Lok Sabha Elections 2019: चुनाव नतीजों से पहले ही जीत को लेकर आश्वस्त पीएम मोदी, अधिकारियों को नई सरकार का काम सौंपा

2047 तक विकसित देश बनाना लक्ष्य मोदी सरकार के शीर्ष तीन अधिकारियों के अनुसार तमाम चुनावी कार्यक्रम की व्यस्तता के बीच पीएम मोदी ने यह कार्य पूरा करने का निर्देश दिया है। नीति आयोग के वीसी, पीएसए के मुख्य सलाहकार प्रोफेसर के विजयराघवन को इस बात की जिम्मेदारी सौंपी गई है कि वह स्वच्छ भारत को को आगे बढ़ाने, आर्थिक स्थिति को मजबूत करने और प्रशासनिक सुधार को बेहतर करने के लिए खाका तैयार करें। तीनों ही अधिकारियों को कहना है कि हमारा मुख्य ध्यान गैस, पेट्रोलियम, खनिज, इंफ्रास्ट्रक्चर को आजाद करना है, जिससे कि 2047 तक देश विकसित कहलाए। हमारा मानना है कि इन सेक्टर्स से रेड टेप अलग करने से आसानी से जीडीपी में 2.5 फीसदी की बढ़ोतरी होगी। इसे भी पढ़ें- ये जीते तो मुझे गोली मरवा देंगे नरेंद्र मोदी- शरद यादव रोजगार, अधिगम अहम 100 दिन का मुख्य केंद्र उच्च विकास है, जिसके तहत मुख्य रूप से अधिगम और रोजगार पर ध्यान दिया जाएगा। उच्च विकास करने वाले सेक्टर खनन, कोयल, उर्जा, आदि हैं। जबकि अधिगम की बात करें तो शिक्षा, प्राथमिक स्वास्थ्य सेंटर मुख्य हैं। रोजगार सृजन के लिए परिवहन और एमएसएमई अहम हैं। अगर पीएम मोदी फिर से सत्ता में आते हैं तो शुद्ध पेयजल, नदियों को आपस में जोड़ना सरकार की मुख्य वरीयता होगी। इसके पीछे की बड़ी वजह यह है कि डैम के निर्माण से पानी की समस्या को खत्म करना जिससे कि चीन की धमकी को खत्म किया जा सके। नदियों को जोड़ना अहम लक्ष्य एक अधिकारी ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस बात से अवगत हैं कि दक्षिण भारत को पानी नदियों को जोड़कर ही पहुंचाया जा सकता है। जिन नदियों का पानी समुद्र में जाता है उन नदियों को आपस में जोड़कर पीने योग्य पानी को बचाया जा सकता है। इसके अलावा सड़क, एयरपोर्ट, पोर्ट, आदि पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए काफी अहम हैं।
Source: OneIndia Hindi

Related posts