स्कूल में साढ़े तीन साल की बच्ची से दो आंटियों ने की हैवानियत

स्कूल में काम करने वाली आंटी(आया)ने उसे चोट पहुंचाई बच्ची के परिजनों ने जब उससे इस चोट के बारे में पूछा तो कि यह कैसे हुआ? तो बच्ची ने बताया कि, स्कूल में काम करने वाली आंटी(आया)ने उसे चोट पहुंचाई है। पुलिस उपायुक्त (महिला सुरक्षा विंग) अनसूया ने बताया कि, हमने बच्चे से भी बात की। लड़की द्वारा किए गए इशारों के आधार पर, हमें संदेह है कि, उसके निजी अंगों में ‘आंटी’ द्वारा कुछ पत्थरों को डाला गया था।इस इंटरनेशनल प्री स्कूल की महिलाओं ने बच्ची के साथ वॉशरूम में इस घटना को अंजाम दिया है। VIDEO: मंदिर में अनुष्ठान के दौरान घायल हुए शशि थरूर, सिर और पैर में आई गंभीर चोटें ये संदिग्ध महिलाएं आदतन अपराधी हैं पुलिस ने बताया कि, जांच के बाद लड़की को इलाज के लिए सरकारी अस्पताल में भेज दिया गया है। हालांकि, बाल अधिकार एनजीओ बाला हाक्कुला संगम ने आरोप लगाया कि माधापुर पुलिस दोनों संदिग्धों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। एनजीओ का कहना है कि, हमें जानकारी मिली कि ये संदिग्ध महिलाएं आदतन अपराधी हैं, पता नहीं पुलिस इन महिलाओं के खिलाफ क्यों कार्रवाई नहीं कर रही है। बाला हक्कुला संगम के अध्यक्ष अच्युत राव ने कहा कि अगर पीड़ित के निजी अंगों में पत्थर डाले गए हैं, तो यह एक बहुत ही गंभीर अपराध है और कल्पना करें कि पीड़ित को कितना दर्द हुआ होगा।
Source: OneIndia Hindi

Related posts