जेट एयरवेज के पायलटों ने PM मोदी से 20 हजार नौंकरियां बचाने की लगाई गुहार, SBI से फंड जारी करने की अपील

India oi-Rahul Kumar |

Published: Monday, April 15, 2019, 14:18 [IST]
नई दिल्ली। वित्तीय संकट से जूझ रही जेट एयरवेज के पायलटों ने एसबीआई से 1,500 करोड़ रुपए का फंड जारी करने की अपील की है और प्रधानमंत्री मोदी से 20,000 नौकरियां बचाने में मदद करने का अनुरोध किया है। कर्ज पुर्नसंरचना की पिछले महीने तैयार की गई योजना के तहत 1,500 करोड़ रुपए एसबीआई को जेट एय़रवेज में लगाने के लिए कहा गया था। एयरलाइन केवल 6-7 विमानों का संचालन कर रही है, नकदी की भारी कमी के चलते जेट की लगभग पूरी फ्लीट एयरपोर्ट पर खड़ी हुई है। जेट एयरवेज के पायलटों के संगठन नेशनल एवियटर्स गिल्ड (एनएजी) ने ‘विमान नहीं उड़ाने’ के अपने फैसले को कुछ समय के लिए टाल दिया है। संगठन ने ऐसे समय में यह निर्णय किया है जब सोमवार को एयरलाइन के प्रबंधन की ऋणदाताओं के साथ बैठक होनी है। नेशनल एविएटर्स गिल्ड (एनएजी) के उपाध्यक्ष आदिम वलियानी ने कहा, “हम एसबीआई से एयरलाइन को परिचालन जारी रखने में मदद के लिए 1,500 करोड़ रुपये जारी करने की अपील करना चाहते हैं। हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से एयरलाइन में 20,000 नौकरियों को बचाने की भी अपील करते हैं। इससे पहले, एयरलाइन के पायलट, इंजीनियर और केबिन क्रू सदस्य अपनी एकजुटता दिखाने के लिए मुख्यालय में इकट्ठे हुए। जेट एयरवेज के इंजीनियरों और वरिष्ठ कर्मचारियों के साथ एयरलाइन के पायलटों को आखिरी बार दिसंबर, 2018 में भुगतान किया गया था। इसके अलावा, एयरलाइन ने कर्मचारियों की अन्य श्रेणियों को मार्च में वेतन नहीं मिला है। गिल्ड के एक सूत्र ने बताया, ‘अब तक हमें करीब पिछले साढ़े तीन महीने का वेतन नहीं मिला है और हमें नहीं पता कि हमारा वेतन कब मिलेगा। इसलिए हमने 15 अप्रैल से जहाज नहीं उड़ाने के अपने फैसले के साथ आगे बढ़ने का निर्णय लिया है। उनका कहना था कि वह नए प्रबंधन को कुछ और समय देना चाहते हैं। लोकसभा चुनाव से संबंधित विस्तृत कवरेज पढ़ने के लिए क्लिक करें कंपनी पर 8000 करोड़ रुपए कर्ज है। अधिकांश विमान खड़े हैं। अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर भी रोक लगी है। कंपनी मैनेजमेंट का कहना है कि हम इस स्थिति को सुलझाने के लिए प्रयासरत हैं। जेट एयरवेज ने रविवार को कहा कि एयरलाइन ने एम्सटर्डम, लंदन हीथ्रो और पेरिस से आने-जाने वाले विमानों की सेवाएं भी 16 अप्रैल तक रद्द कर दी हैं। केवल छह-सात विमानों का संचालन कर रहे जेट एयरवेज ने शुक्रवार को इन स्थानों तक अपनी सेवाओं का निलंबन सोमवार तक बढ़ा दिया था।  महंगाई के मोर्चे पर बुरी खबर, खुदरा के बाद थोक मुद्रास्फीति दर में इजाफा
जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें – निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!
गहराया संकट, जेट एयरवेज की सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानें रद्द, 10 और विमानों का परिचालन बंद Jet Airways Crisis: जेट ने कई उड़ानें की रद्द, सुरेश प्रभु ने नागर विमानन सचिव से मांगी रिपोर्ट जेट एयरवेज ने की सभी इंटरनेशनल उड़ानें रद्द, 12 अप्रैल को नीलामी पर फैसला फ्लाइट रद्द किए जाने के बाद जेट एयरवेज ने जताया खेद, बोला- चल रही है टिकट रिफंड की प्रक्रिया 8 दिनों में तीसरी बार इंडियन ऑयल ने बंद की जेट एयरवेज की ईंधन सप्लाई बकाया भुगतान न करने की वजह से इंडियन ऑयल ने रोकी जेट एयरवेज की फ्यूल सप्लाई अब तेल कंपनियों ने जेट एयरवेज को रुलाया, 1 घंटे सप्लाई रोकी पायलटों को जेट का ऑफर, बिना नोटिस के छोड़ सकते हैं नौकरी घाटे में चल रहा जेट एयरवेज फिर नहीं चुका पाया HSBC बैंक का बकाया: रिपोर्ट जेट एयरवेज को बचाने के लिए बैंक की मदद पर तिलमिलाया माल्या, कहा- ये वही बैंक हैं जिन्होंने मेरी किंगफिशर को डूबने दिया जेट एयरवेज के संस्थापक नरेश गोयल ने दिया इस्तीफा, दिवालिया होने की कगार पर एयरलाइन Jet ने अप्रैल अंत तक इन 13 अंतरराष्ट्रीय मार्गों पर उड़ानें स्थगित कीं, जानिए वजह
Source: OneIndia Hindi

Related posts