पाकिस्तान की तरफ से एक और आतंकी हमला हुआ तो भारत के पास खुले हैं सारे विकल्प- सूत्र

(सांकेतिक तस्वीर)

News18Hindi

Updated: March 5, 2019, 8:14 PM IST

पाकिस्तान की ओर से हर संभावित हमले का जवाब देने के लिए भारतीय सेनाएं पूरी तरह से तैयार हैं. आधिकरिक सूत्रों का कहना है कि अगर पाकिस्तान की तरफ से भारत पर कोई और आतंकी हमला होता है तो भारत के पास सारे विकल्प खुले हैं. भारत एक बार फिर एयरस्ट्राइक कर सकता है. इसके लिए वायुसेना हाई अलर्ट पर है.पुलवामा में सेंट्रल रिजर्व पुलिस फोर्स(CRPF) काफिले पर हुए आतंकी हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव अपने चरम पर है. अंतरराष्ट्रीय संगठनों के दबाव के बाद विंग कमांडर अभिनंदन की पाकिस्तान से वापसी के बाद भी तनाव कम नहीं हुआ है.सूत्रों का यह भी कहना है कि भारत के एयरस्ट्राइक के जवाब में पाकिस्तान ने भारतीय सैन्य ठिकानों को निशाना बनाकर एफ-16 विमान का इस्तेमाल किया. भारत ने अमेरिका को इस संबंध में जरूरी साक्ष्य भी सौंपे हैं.(यह भी पढ़ें:  शाह महमूद कुरैशीः पाकिस्तान का कर रहे हैं बंटाधार या करेंगे बेड़ा पार?)सूत्रों ने न्यूज18 को जानकारी दी कि 26 फरवरी को हुए एयर स्ट्राइक के बाद इंडियन एयरफोर्स का वेस्टर्न बेस हाई अलर्ट पर है. पाकिस्तान ने इस एयर स्ट्राइक के जवाब में 27 फरवरी को भारतीय सैन्य ठिकानों को निशाना बनाने के लिए भारतीय सीमा के भीतर अपने विमान भेजे लेकिन भारत ने जवाबी हमले में पाकिस्तान को भागने पर मजबूर कर दिया.बालाकोट में हुए एयर स्ट्राइक के बाद भारत पाकिस्तान पर दबाव बनाने की हर संभव कोशिश कर रहा है.(यह भी पढ़ें: पाक नेवी का दावा- पाकिस्तान की समुद्री सीमा में घुसी भारत की पनडुब्बी)Loading… सूत्रों का कहना है कि पाकिस्तान ने सभी देशों से अपने पक्ष में मध्यस्थता कराने की अपील की लेकिन सब ने एक स्वर में भारत का साथ देने की बात की. भारत ने पहले ही सभी सहयोगी देशों से कहा है कि यह भारत और पाकिस्तान के बीच कोई मुद्दा नहीं है. मुद्दा आंतकवाद का है.अगर जैश-ए-मोहम्मद प्रमुख मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र संघ बैन कर देता है तो पाकिस्तान की मुश्किलें बढ़ जाएंगी. पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने एक इंटरव्यू में एडमिट किया था कि जैश प्रमुख मसूद लंबे समय से पाकिस्तान में ही है.भारत ने अपने एयर स्ट्राइक को नॉन मिलिट्री एक्शन करार दिया. भारत ने यह एक्शन 40 जवानों की शहादत का बदला लेने के लिए किया था. जैश-ए-मोहम्मद ने सीआरपीएफ काफिले पर किए गए आत्मघाती हमले की जिम्मेदारी ली थी.एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

Loading…

और भी देखें

Source: News18 News

Related posts