कर्नाटक: जब गृहमंत्री को वीवीआईपी दर्शन का लड़की ने किया विरोध, मंत्री जी को देनी पड़ी सफाई

India oi-Ankur Singh |

Published: Tuesday, March 5, 2019, 14:08 [IST]
नई दिल्ली। अक्सर आपने सार्वजनिक स्थल पर किसी वीआईपी या वीवीआईपी के आने पर उसे प्रशासन की ओर से विशेष सुविधा मुहैया कराते देखा होगा। लेकिन कर्नाटक के विजयपुर में जब प्रदेश के गृह मंत्री एमबी पाटिल सोमवार को अमरगंदीशरा शिव मंदिर में दर्शन करने पहुंचे तो प्रशासन की ओर से उन्हें आम लोगों की कतार से अलग विशेष दर्शन कराया गया। लेकिन जब मंत्री जी दर्शन के लिए जा रहे थे तो इसी दौरान वहां दर्शन के लिए लाइन में लगी लड़की ने इसपर आपत्ति जाहिर की और एमबी पाटिल से कहा कि आपको लाइन में आना चाहिए था। दरअसल सोमवार को महाशिवरात्रि होने की वजह से मंदिर में दर्शन करने के लिए सैकड़ों श्रद्धालू मंदिर में कतार में खड़े थे। लेकिन एमबी पाटिल को विशेष दर्शन दिए जाने पर लड़की की आपत्ति के बाद खुद पाटिल को लड़की से माफी मांगनी पड़ी। लड़की की आपत्ति सुनने के बाद पाटिल ने खुद आगे आकर उससे माफी मांगी और सफाई देते हुए कहा कि उन्हें दो अहम बैठक में हिस्सा लेना है और उनका इन बैठकों में जाना जरूरी है, लिहाजा वह लाइन में नहीं लग सकते हैं। इसीलिए उन्हें यह विशेष दर्शन मुहैया कराया गया है। आपको बता दें कि एमबी पाटिल को प्रदेश का गृहमंत्री बनाया गया, बावजूद इसके कि तमाम कांग्रेस विधायकों ने इसका विरोध किया था। माना जाता है कि खुद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने उन्हें इस पद के लिए प्रस्तावित किया था। पाटिल पूर्व कर्नाटक के लिंगायत समुदाय से आते हैं। रिपोर्ट की मानें तो उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वर चाहते थे कि प्रदेश के गृहमंत्री का पद किसी और को दिया जाए क्योंकि यह उपमुख्यमंत्री के पद के बराबर का पद है, लिहाजा उनके पद की अहमियत कम हो सकती है। इसे भी पढ़ें- पाक पर मोदी के एक्शन ने बदला यूपी का मूड, सर्वे ने बताई महागठबंधन के खिलाफ बढ़त

जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें – निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!
Source: OneIndia Hindi

Related posts