‘एयर स्ट्राइक में मारे गए कितने आतंकी, लोगों को जानने का अधिकार’

‘सामना’ में संपादकीय लिखकर शिवसेना ने बीजेपी से किया सवाल बीजेपी पर निशाना साधते हुए शिवसेना ने कहा, “देशवासियों को यह जानने का अधिकार है कि सुरक्षा बलों ने दुश्मन को कितना और किस तरह का नुकसान पहुंचाया है। हमें नहीं लगता कि यह पूछने से हमारे सेनाओं का मनोबल कम हो जाएगा।” बता दें कि 14 फरवरी को पुलवामा में सीआरपीएफ काफिले पर आतंकी हमले के बाद भारतीय वायु सेना ने 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के सबसे बड़े प्रशिक्षण शिविर पर एयर स्ट्राइक की थी। इस एयर स्ट्राइक में हताहतों की संख्या कितनी थी, इसको लेकर कोई स्पष्ट आंकड़ा नहीं आया है। इसी को लेकर कांग्रेस समेत अलग-अलग राजनीतिक दलों के नेता सवाल उठा रहे हैं। इसे भी पढ़ें:- अब स्कूल में पढ़ाई जाएगी विंग कमांडर अभिनंदन की शौर्य गाथा शिवसेना ने पूछा- पुलवामा में 300 किलोग्राम आरडीएक्स कहां से आया? बीजेपी की सहयोगी शिवसेना ने भी अब इस पर आवाज बुलंद की है। शिवसेना ने ‘सामना’ में लिखे संपादकीय में सवाल उठाया, “पुलवामा हमले में इस्तेमाल किया गया 300 किलोग्राम आरडीएक्स कहां से आया? आतंकी शिविरों पर किए गए हवाई हमलों में कितने आतंकवादी मारे गए? इन पर चर्चा चुनाव के अंतिम दिनों तक होती रहेगी क्योंकि पुलवामा हमले से पहले महंगाई, बेरोजगारी और राफेल विमान सौदा विपक्ष के लिए ज्वलंत मुद्दे थे।” हालांकि इन मुद्दों पर मोदी सरकार का ‘बम’ गिर गया है। जिसकी वजह से राम मंदिर निर्माण, आर्टिकल 370 और किसानों की ओर से उठाए गए मुद्दे खाक हो गए। एयर स्ट्राइक पर गरमाई सियासत बता दें कि वायुसेना की ओर से पाकिस्तान के बालाकोट में की गई एयर स्ट्राइक पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह के बाद मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी सवाल उठाए हैं। कमलनाथ ने सरकार से एयर स्ट्राइक के सबूत जारी करने को कहा है। कमलनाथ ने कहा- एयर स्ट्राइक को किस रूप में अंजाम दिया गया है उसे जनता के सामने लना चाहिए। कमलनाथ ने ये भी कहा कि वायुसेना अध्यक्ष ने कहा था कि हम टारगेट तय करते हैं और हमारा टारगेट सफल रहा है।
Source: OneIndia Hindi

Related posts