MUST READ: आपके पास भी है LIC पॉलिसी तो पढ़ें ये खबर, फंस जाएगा आपका पूरा पैसा, अगर नहीं किया ये काम

LIC पॉलिसी है तो जल्द करें ये काम अगर आपने अपने बैंक अकाउंट को अपनी बीमा पॉलिसी के साथ नहीं जुड़वाया है तो बिना देर किए उसे फौरन अपने खाते से लिंक करें। ऐसा नहीं करने पर आपका पूरा का पूरा पैसा फंस सकता है। एलआईसी ने कुछ समय पहले तक आपके रजिस्टर्ड पते पर चेक भेजकर पॉलिसी से संबंधित भुगतान करती थी, लेकिन अब ऐसा नहीं किया जा रहा है। अब एलआईसी पॉलिसी से संबंधित रकम का भुगतान पॉलिसी होल्डर्स के बैंक अकाउंट में ही करती है। बैंक अकाउंट लिंक करना जरूरी LIC ने अब बीमाधारकों के खाते में सीधे पेमेंट करना शुरू कर दिया है। अगर आपने भी अब तक अपनी पॉलिसी में अपना बैंक खाता नंबर नहीं जुड़वाया है तो बिना देर किए फौरन ये काम करें। हालांकि अभी भी बड़ी संख्या में ऐसे पॉलिसी होल्डर हैं, जिन्होंने अपनी पॉलिसी को बैंक अकाउंट से नहीं जोड़े हैं। ऐसे बीमाधारकों के पेमेंट को एलआईसी ने रोकना शुरू कर दिया है। क्या है बैंक अकाउंट जोड़ने का तरीका एलआईसी पॉलिसी के साथ बैंक अकाउंट जुड़वाने का तरीका बेहद आसान है। इसके लिए आपको अपने बैंक अकाउंट का कैंसिल चेक या बैंक पासबुक के फ्रंट पेज की फोटोकॉपी नजदीकी एलआईसी शाखा में जमा करवानी होगी। एलआईसी ऑफिस में आपको एनईएफटी (NEFT) मैंडेट फॉर्म भरना होगा। इस फॉर्म के साथ आप कैंसिल चेक या बैंक पासबुक की कॉपी अटैच कर जमा करें। इसके 1 हफ्ते बाद आपकी पॉलिसी आपके0 बैंक अकाउंट से जुड़ जाएगी। LIC का SMS 1 मार्च से LIC डिजिटल होने जा रही है। इसके तहत एलआईसी आपको प्रीमियम भरने की तारीख आएगी, प्रीमियम नहीं जमा करने पर पॉलिसी लैप्स होने की जानकारी, बोनस आदि से संबंधित सभी जानकारी आपके फोन पर SMS के जरिए देगा। LIC इसकी सूचना देने के लिए अपने पॉलिसीहोल्डर्स को SMS भेज रही है। अगर आपको ये एसएमएस नहीं मिली है तो अलर्ट हो जाए। एलआईसी का ये एसएमएस नहीं मिलने का मतलब है कि आपका मोबाइल नंबर आपकी पॉलिसी के साथ रजिस्टर्ड नहीं है। ऐसी स्थिति में फौरन अपना मोबाइल नंबर एलआईसी से रजिस्टर्ड कराए और अगर आपने फोन नंबर बदला है तो उसे अपटेड करवाएं।
Source: OneIndia Hindi

Related posts