युवाओं को यूनिवर्सिटी और कॉलेजों में दी जाएगी रोजगार की संभावनाओं की पूरी जानकारी

Publish Date:Sun, 27 Jan 2019 08:27 PM (IST)

जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। युवाओं को पढ़ाई पूरी करने के बाद रोजगार से जुड़े भटकाव से बचाने के लिए विश्वविद्यालय और कॉलेज स्तर पर भी काम होगा। प्रत्येक छात्रों को अब पढ़ाई के दौरान ही उस क्षेत्र में आगे बढ़ने और रोजगार से जुड़ी सारी संभावनाओं की जानकारी दी जाएगी।
इतना ही नहीं, संस्थान से निकलने के बाद कितने छात्रों को रोजगार मिला और कितने को नहीं मिला, इसका भी पूरा ब्यौरा रखा जाएगा। हालांकि अभी यह साफ नहीं है, जिन्हें रोजगार नहीं मिलता है, उन्हें लेकर क्या किया जाएगा। लेकिन इस तरह का ब्यौरा रखे जाने की योजना बनाई गई है।
मानव संसाधन विकास मंत्रालय से जुड़े यूजीसी और एआईसीटीई जैसे आयोग फिलहाल इसे लेकर एक बड़ी योजना पर काम कर रहे हैं। रोजगार से जुड़े विशेषज्ञों और शिक्षाविदें की एक टीम भी लगाई गई है। हालांकि इससे पहले भी सरकार ने छात्रों को रोजगार से जोड़ने से लिए उनसे जुड़े कुछ नए कोर्स भी शुरू किए है।
खासकर इंजीनियरिंग के क्षेत्र में तो आने वाले शैक्षणिक सत्र से ही इसे लेकर बड़ा बदलाव देखने को मिलेगा। जहां अब बीई या बीटेक जैसे कोर्स में वह सारा कुछ पढ़ाया जाएगा, जिसकी बाजार में मांग तेजी से बढ़ रही है, या फिर आने वाले दिनों में इसके बढ़ने की संभावना है।

फिलहाल विशेषज्ञ कमेटी ने ऐसे नौ क्षेत्रों का चयन किया है, जिनमें रोबोटिक्स, साइबर सिक्यूरिटी, क्वांटम इंजीनियरिंग, आर्टीफिशियल इंटेलीजेंस, थ्री-डी प्रिंटिंग और डिजाइन जैसे क्षेत्र प्रमुख रूप से शामिल है। इन सभी विषयों से जुड़े पाठ्यक्रम को तैयार करने का काम तेजी से चल रहा है। जो 31 जनवरी तक सामने आ जाएंगे। कालेजों में जुलाई से यह पढ़ाया भी जाने लगेगा। इसी तरह विश्वविद्यालय और कालेजों में भी बीए और बीएससी प्रोफेशनल जैसे कोर्स शुरू करने जैसी योजना पर भी काम हो रहा है।

Posted By: Arun Kumar Singh

Source: Jagran.com

Related posts

Leave a Comment