#GoBackModi vs #TNWelcomesModi: मोदी के मदुरई दौरे से पहले ट्विटर पर छिड़ी जंग

News18.com

Updated: January 27, 2019, 11:51 AM IST प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रविवार को मदुरई दौरे के पहले ही ट्विटर पर #GoBackModi और#TNWelcomesModi व #MaduraiThanksModi की जंग छिड़ गई है. खबर लिखे जाने तक दो लाख 19 हज़ार ट्वीट #GoBackMod के और दो लाख 32 हज़ार ट्वीट #TNWelcomesModi के हो चुके हैं.बता दें कि मोदी रविवार को मदुरई एम्स की आधारशिला रखेंगे. इसके साथ ही वह राजाजी मेडिकल कॉलेज के अति विशेषज्ञता वाले कुछ विभागों के अलावा थंजावुर मेडिकल कॉलेज और तिरुवनवेली मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन करेंगे.ये भी पढ़ें- लोकसभा चुनाव 2019 : इन कारणों से राजद को सता रहा है ‘सवर्ण वोट’ बैंक खिसकने का डरजहां #TNWelcomesModi और #MaduraiThanksModi हैश टैग के साथ ट्विटर यूज़र्स ने एम्स की स्थापना के लिए मोदी को धन्यवाद दिया है वहीं #GoBackModi हैश टैग यूजर्स ने कावेरी जल विवाद पर कर्नाटक का पक्ष लेने, हिंदी भाषा को तमिलनाडु के ऊपर थोपने और NEET की परीक्षा दो बार करवाने जैसे मुद्दों को लेकर विरोध किया है.तमिलनाडु में NEET के मुद्दे ने काफी तूल पकड़ लिया था और राजनीतिक पार्टियां पहले दिन से ही इसका विरोध कर रही थीं. विरोध इस कदर बढ़ा था कि एक NEET विरोधी याचिकाकर्ता एस अनीता ने खुदकुशी भी कर ली थी.एमडीएमके नेता वाइको ने कहा है कि तमिलनाडु के हितों की अनदेखी करने के कारण पार्टी मोदी के खिलाफ काले झंडे दिखाएगी और विरोध प्रदर्शन करेगी. उन्होंने कहा कि ये विरोध एम्स के खिलाफ नहीं है बल्कि मोदी और बीजेपी सरकार के खिलाफ है.ये भी पढ़ें- ‘मैडम प्रियंका अभी बच्ची हैं, PM मोदी को देनी है टक्कर तो सोनिया को मैदान में उतारे कांग्रेस’पीएम मोदी का ये दौरा इस रूप में महत्त्वपूर्ण है कि बीजेपी सत्ताधारी एआईएडीएमके के साथ मिलकर चुनाव लड़ना चाहती है. लेकिन एआईएडीएमके में चल रही अंदरूनी उठापटक के कारण अभी इस मुद्दे पर कोई फैसला नहीं हो पा रहा है. दूसरी ओर कांग्रेस और डीएमके के बीच गठबंधन हो गया है. स्टालिन ने राहुल गांधी को पीएम उम्मीदवार के रूप में समर्थन भी दे दिया है.2014 के चुनावों में बीजेपी ने डीएमडीके, पीएमके और वाइको की अगुवाई वाली एमडीएमके सहित पांच पार्टियों के साथ गठबंधन करके चुनाव लड़ा था लेकिन उसे सिर्फ दो सीटें ही मिल सकीं थीं-एक बीजेपी को और एक पीएमके को. बाद में सभी पांचों पार्टियों ने बीजेपी से अपने को अलग कर लिया.एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Source: News18 News

Related posts