Bajaj इन 20 सालों में बहुत बदल गई है- राकेश शर्मा: EXCLUSIVE

Publish Date:Sun, 27 Jan 2019 01:38 PM (IST)

नई दिल्ली (श्रीधर मिश्रा)। Bajaj Auto Limited (बजाज आटो लिमिटेड) ने हाल में अपनी कंपनी की आइडेंटिटी (पहचान) बदली है। कंपनी अब The World’s Favourite Indian के तहत अपनी रणनीति और सर्विसेज को ग्राहकों तक पहुंचाएगी। इस दौरान हमने Bajaj Auto India के Executive Director राकेश शर्मा से EXCLUSIVE सवाल पूछे। इनमें बजट (Budget 2019) से लेकर कई मुद्दे शामिल थे। हमारे पूछे गए सवालों के कुछ अंश
Bajaj ने अपनी आइडेंटिटी (पहचान) बदल दी इससे आम ग्राहक पर क्या असर पड़ेगा?

राकेश शर्मा- ये बदलाव जो हम हैं उसे बता रहा है। जनता जो हमारे बारे में समझती थी उसमें काफी अंतर आ गया है। आज से 20 साल पहले किया गए कंपैन को आज भी लोग याद रखते हैं, लेकिन इन 20 सालों में बहुत अतंर आ गया है। हमने स्कूटर बनाने बंद कर दिए, मोटरसाइकिल शुरू कर दी, पहले स्कूटर केवल भारतीय ग्राहकों के लिए बनाते थे, अब मोटरसाइकिल को पूरी दुनिया के लिए बनाते हैं। हम अब ग्राहक को समझता सकते हैं कि हम कौन है। हमे विदेशों में भी भारत जैसा प्यार मिलता है।

KTM और Pulsar जैसी बाइक्स से Bajaj क्या अब केवल नौजवानों को टारगेट कर रही है?

राकेश शर्मा- Bajaj ब्रॉड में हम 100 सीसी से लेकर 400 सीसी तक की बाइक बना रहे हैं। इससे हर वर्ग का ग्राहक हमसे जुड़ रहा है। KTM की बात करें तो वो बिलकुल अलग है। इसलिए हमने उसको KTM की तरह पेश किया है, हमने उसको Bajaj की तरह पेश नहीं किया है। KTM बनता जरूर है बजाज की फैक्ट्री में, वो डिजाइन जरूर होता है बजाज के RND में, लेकिन बाइक को जो मूल रूप है वो KTM का है।
BS-6 नॉम्स कितनी बड़ी चुनौती रही या है?

राकेश शर्मा- BS-6 नॉम्स चुनौती तो बहुत बड़ी है, लेकिन अब इसे करना है तो करना है। हालांकि, इमिशन को देखते हुए ये बहुत जरूरी है।

राजीव बजाज ने कहा कि उन्होंने 28 सालों में कभी बजट नहीं देखा और न कभी देखेंगे। बजट देखना उन्हें समय की बर्बादी लगती है। क्या यह बयान इसलिए भी खास है क्योंकि माना जा रहा है कि इस बार का बजट (2019 General Budget) किसानों के लिए होगा। शायद बतौर निर्माता यह हताशा में दिया बयान तो नहीं?

राकेश शर्मा- देखिए, हमारा क्या सोचना है कि बजाज के लिए कुछ मांगे या मोटरसाइकिल बाजार के लिए कुछ मांगे ये छोटी सी चीज है। हमको सबसे ज्यादा फायदा तब होता है जब ग्राहक के जेब में पैसा आता है, क्योंकि जब ग्राहक के पास पैसा होता तो वो वाहन या घर खरीदता है। इसलिए हमारा कहना है कि ग्राहक के लिए ऐसा कीजिए ताकी उसका विश्वास बढ़े उससे सबसे ज्यादा फायदा हमें होता है।
क्या Chetak को Bajaj नए लुक और तकनीक के साथ दोबारा लॉन्च कर सकती है?

राकेश शर्मा- देखिए ये जो स्टाइलिंग और दूसरी चीजे हैं ये डिजाइनर लोग स्कैन करते रहते हैं कि कॉम्पटिशन क्या कर रहा है। ये हमारे लिए बहुत मुश्किल है कि पुराना कुछ लेकर उसे नया कर दिया जाए। ग्राहक समझ जाता है, तो यह बहुत मुश्किल प्रक्रिया है।

क्या Bajaj अब भारत के बाहर दुनिया की बड़ी कंपनियों से दो-दो हाथ करने के लिए तैयार है?

राकेश शर्मा- 40 फीसदी हमारा प्रोडक्शन निर्यात हो रहा है। 20 से 30 देशों में हम नंबर-1 या नंबर-2 हैं। 70 देशों में हमारी बड़ी मौजूदगी है, 10 मिलियन से ज्यादा बाइक हमारी विदेशों में बिक चुकी हैं। 20 देशों में Pulsar नंबर-1, अफ्रीका में Boxer नंबर-1 है। इस हिसाब से हम टक्कर देंगे नहीं बल्कि दे रहे हैं।
[embedded content]
यह भी पढ़ें:
भारत में 10 लाख रुपये से कम कीमत में ये हैं 5 सबसे लेटेस्ट कारें, जानें कीमत और फीचर्स
सड़क पर गाड़ी चलाते समय इन 8 गलतियों से कट सकता है चालान, हो सकती है जेल
2019 में भी धमाल मचाएंगी ये 6 बाइक्स, जानें कीमत और फीचर्स
Posted By: Shridhar Mishra

Source: jagran.com

Related posts