चंपावत में खाई में गिरी पिक अप वैन, पांच की मौत

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का अयोध्या राम मंदिर मामले में एक और बड़ा बयान सामने आया है. योगी आदित्यनाथ ने कहा की हम चाहे तो 24 घंटे में राम मंदिर मामले का समाधान कर सकते है.
उन्होंने कहा कि राम मंदिर मसले पर लोगों का धैर्य समाप्त हो रहा है और सर्वोच्च न्यायालय इस विवाद पर जल्द आदेश देने में असमर्थ है. योगी आदित्यनाथ ने कहा, ‘इसे हमारे हवाले कर देना चाहिए और 24 घंटे के भीतर इसका समाधान हो जाएगा.’
मुख्यमंत्री ने भारतीय जनता पार्टी द्वारा 2014 के लोकसभा चुनाव के मुकाबले आगामी आम चुनाव में उत्तर प्रदेश में ज्यादा सीटें जीतने का भी दावा किया है.

मुख्यमंत्री से एक समाचार चैनल ने जब पूछा कि क्या वह आयोध्या मसले का समाधान बातचीत से करेंगे या डंडे से तो उन्होंने मुस्कराते हुए जवाब दिया-‘पहले अदालत को मसले को हमारे हवाले करने दीजिए.’
संतों के इच्छा का होगा सम्मान : राम माधव
भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता राम माधव ने राम मंदिर पर बड़ा बयान दिया है। प्रयाग राज के कुंभ मेले में राम माधव ने कहा है कि संतों के इच्छा का सम्मान किया जाएगा. उन्होंने आगे कहा कि राम मंदिर पर संत जो कहेंगे वही किया जाएगा. इसके अलावा जब उनसे प्रियंका के राजनीति में आने पर सवाल किया गया तब उन्होंने इसपर चुप्पी साध ली.
राम माधव के मुताबिक संतों और करोड़ों रामभक्तों की इच्छा के आगे सभी को झुकना ही होगा. प्रयागराज के कुंभ मेले में पहुंचे राम माधव ने संगम दर्शन और आरती के बाद कहा कि सरकार सिर्फ अदालत के फैसले का इंतजार कर रही है. अदालत के फैसले के बाद सभी को रामभक्तों की इच्छा के आगे झुकना ही पड़ेगा.
राम माधव ने कहा कि राम मंदिर निर्माण का सपना जल्द ही साकार होगा. उनका दावा है कि मंदिर निर्माण जल्द ही शुरू हो जाएगा और इसके लिए कोई न कोई रास्ता ज़रूर निकलेगा.
29 जनवरी को अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई
लोकसभा चुनाव को कुछ ही दिनों का वक़्त बचा है. ऐसे में एक बार फिर राम मंदिर का मुद्दा गर्मा गया है. कुंभ मेले से भी साधु संत राम मंदिर निर्माण की मांग तेज कर दी है. बताते चले कि अयोध्या राम मंदिर विवाद सुप्रीम कोर्ट में लंबित है. जिसपर 29 जनवरी को सुनवाई होनी है। इस मामले की पिछली तारीख में जस्टिस यू यू ललित के पीछे हट जाने से मामले की सुनवाई 29 जनवरी तक टाल दी गई थी. इस मामले की सुनवाई चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता में पांच जजों की नई बेंच करेगी.
[embedded content]
Source: HW News

Related posts