CBI में अभियोजन निदेशक का पद रिक्त, सरकार ने मंत्रालयों से मांगे नाम

प्रतीकात्मक तस्वीर

भाषा

Updated: January 14, 2019, 3:37 PM IST

केंद्र सरकार ने सीबीआई में खाली पड़े अभियोजन निदेशक के पद को तेजी से भरने के लिए विभिन्न मंत्रालयों से नाम मांगे हैं. अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी. आलोक वर्मा को पद से हटाए जाने के बाद से एजेंसी अपने नियमित प्रमुख के बिना ही काम कर रही है. अधिकारियों ने बताया कि अभियोजन निदेशक ओ पी वर्मा का कार्यकाल 23 दिसंबर को पूरा हो गया था.संघीय जांच एजेंसी में अभियोजन निदेशक का पद काफी अहम माना जाता है. अधिकारियों ने बताया कि एजेंसी की जांच के दायरे में आने वाले सभी मामलों में अभियोजन निदेशक अपनी कानूनी राय देता है और इस पद को संभालने वाला व्यक्ति सीबीआई निदेशक के नियंत्रण और सुपरविज़न में काम करता है. उन्होंने बताया कि कार्मिक मंत्रालय ने सभी सरकारी विभागों के सचिवों को पत्र लिखकर योग्य और इच्छुक अधिकारियों के नाम मांगे हैं.यह भी पढ़ें- CBI विवाद: तबादले के बाद आलोक वर्मा के 72 घंटे कैसे गुजरेये अधिकारी संयुक्त सचिव से नीचे के रैंक के नहीं होने चाहिए और विशेष लोक अभियोजक के तौर पर नियुक्त किए जाने के लिए योग्य होने चाहिए. अधिकारियों ने बताया कि उनसे 25 जनवरी से पहले नाम भेजे जाने को कहा गया है ताकि पद पर नियुक्ति के लिए तेजी से फैसला लिया जा सके.अभियोजन निदेशक के पद पर नियुक्ति केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) की अनुशंसा पर की जाती है. संसद की एक समिति ने हाल ही में सीबीआई में रिक्त पदों पर चिंता जाहिर की थी और सरकार से यह सुनिश्चित करने के लिए सक्रियता से कदम उठाने को कहा था कि एजेंसी में स्टाफ की कमी न हो.यह भी पढ़ें- आलोक वर्मा के समर्थन में SC पहुंचे मल्लिकार्जुन खड़गे, कहा- ये मनमानी हैLoading… एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

Loading…

और भी देखें

Updated: January 14, 2019 01:44 PM ISTCBI विवाद पर कांग्रेस का आरोप- सरकार के हाथों की कठपुतली हैं CVC, तत्‍काल करें बर्खास्‍त

Source: News18 News

Related posts