राफेल पर राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी को दी डिबेट की चुनौती, पूछे एक के बाद एक कई सवालों के जवाब

‘राफेल का दाम 1600 करोड़ का कहां से आया, अरुण जेटली ने बताया’ राहुल गांधी मंगलवार शाम करीब 6.30 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस के लिए आए, इस दौरान वो पूरी तैयारी से आए थे। यही वजह है कि आते ही उन्होंने अरुण जेटली के लोकसभा में दिए गए बयान का वीडियो सुनाया। इसके बाद राहुल गांधी ने कहा, “जेटली कहते हैं कि राफेल के दाम को लेकर 1600 करोड़ का नंबर कहां से आया? 58000 करोड़ को 36 से गुणा किया जाए तो 1600 करोड़ का नंबर वहीं से आया है।” राहुल गांधी ने आगे कहा कि गोवा के सीएम ने कैबिनट मीटिंग में कहा कि मेरे पास राफेल से जुड़ी एक फाइल है। मनोहर पर्रिकर किस बात के लिए देश के प्रधानमंत्री को ब्लैकमेल कर रहे हैं? “प्रधानमंत्री से राफेल पर बहस करना चाहता हूं, उनके पास हिम्मत नहीं है” राहुल गांधी ने कहा कि मैं प्रधानमंत्री से राफेल पर बहस करना चाहता हूं। उनके पास हिम्मत नहीं है। राहुल ने कहा कि यहां तक कि पीएम मोदी प्रेस के सामने भी नहीं बैठ सकते हैं। मीडिया का सामना भी नहीं करना चाहते हैं। मुझे पीएम मोदी के साथ राफेल डील पर बात करने में जरूर खुशी होगी। पूरे मामले पर कोर्ट का फैसला साफ है कि ये हमारा क्षेत्र में नहीं है। फैसले में कहीं नहीं कहा गया कि इसमें करप्शन नहीं है। उन्होंने कहा कि टेप सही है और भी इस तरह के टेप हो सकते हैं। राहुल गांधी ने कहा कि, सच्चाई यही है कि, 30 हजार करोड़ अनिल अंबानी को दिया गया है, और चौकीदार चोर है। पीएम मोदी के इंटरव्यू पर राहुल ने की बड़ी टिप्पणी राहुल गांधी ने इस दौरान सोमवार को पीएम मोदी के दिए गए इंटरव्यू पर निशाना साधते हुए कहा कि, मुझे कल उनके साक्षात्कार में एक बात बहुत आश्चर्यजनक और रोचक लगी, वह यह थी कि पीएम ने कहा कि आरोप मेरे खिलाफ व्यक्तिगत रूप से नहीं है। पीएम किस दुनिया में रह रहे हैं? राहुल गांधी ने आगे कहा कि ‘डबल ए’ को पीएम मोदी ने कॉन्ट्रैक्ट दिया। जितनी सच्चाई को छुपाएंगे उतनी सच्चाई बाहर आएगी। राफेल पर संसद में चर्चा हो रही है, लेकिन रक्षा मंत्री नहीं बोल रही हैं। पीएम नहीं बोल रहे हैं। अरुण जेटली बोल रहे हैं। “एयरक्राफ्ट सस्ते तो इनकी संख्या कम क्यों की गई?” कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि पीएम मोदी छुप नहीं सकते हैं। कांग्रेस को एयरक्राफ्ट के बारे में पता नहीं। 28 अगस्त 2007 के आरएफपी में साफ लिखा है हथियार के साथ क्या होगा। राडार से लेकर मिसाइल तक। 2019 में कांग्रेस की सरकार आने पर जांच कराएंगे। पूरी प्रक्रिया की धज्जियां उड़ाई गई है। पीएम को हर सवाल का जवाब देना चाहिए। राहुल गांधी ने सवाल किया कि अगर अरुण जेटली कह रहे हैं कि एयरक्राफ्ट का दाम घटा तो इसकी संख्या कम क्यों की गई है?
Source: OneIndia Hindi

Related posts