नन ने सुनाई दर्दनाक आपबीती- उस पादरी ने मेरी छाती पर जबरन किस किया!

पूरी दुनिया में नन के साथ रेप और यौन शोषण के अब तक कई मामले सामने आए हैं. एशिया, यूरोप, साउथ अमेरिका और अफ्रीका में ऐसे मामलों की तादात ज्यादा है. इन मामलों में सबसे ज्यादा आरोप कैथोलिक पादरियों पर लगे हैं.एसोसिएटिड प्रेस ने भारत में भी ऐसे मामलों की पड़ताल की है, जिसमें ननों के साथ यौन शोषण के कई मामले सामने आए हैं. इस दौरान ननों ने अपने साथ हुई घटनाओं और दूसरों के साथ हुई आपबीती के बारे में बात की है.यह घटनाएं इसलिए भी ज्यादा होती हैं, क्योंकि ज्यादातर मामलों में पीड़िता चुप रह जाती है. कई ननों का मानना है कि दुर्व्यवहार तो अब आम बात है और अधिकतर सिस्टर कम से कम एक पादरी की यौन क्रियाओं के बारे में बता सकती है. कई नन अपना नाम न बताने की शर्त पर ही सच बताने के लिए राजी होती हैं. लेकिन इस बार एक नन ने हिम्मत दिखाई और खुलकर अपनी बात सामने रखी.इस नन ने सबसे पहले अपनी शिकायत चर्च के अधिकारियों से की, लेकिन वहां से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली. इसके बाद इस 44 साल की नन ने बिशप के खिलाफ पुलिस में शिकायत की और बताया कि 2 सालों में वह 13 बार यौन शोषण का शिकार हुई.इस वाकये के बाद ननों के एक समूह ने पब्लिक प्रोटेस्ट के जरिए बिशप को गिरफ्तार करने की मांग की. इस प्रोटेस्ट ने भारत के कैथोलिक समुदाय को विभाजित कर दिया. अभियुक्त और उसके समर्थन करने वाली नन अब दूसरी बहनों से अलग-थलग हैं.चर्च की इस पुरानी परंपरा के चलते बढ़ रहे हैं महिलाओं के प्रति यौन अपराध, जानिए कैसे?एक समर्थक सिस्टर जोसफीन विलोनिकल ने कहा कि कुछ लोग हम पर आरोप लगा रहे हैं कि हम चर्च के खिलाफ काम कर रहे हैं. तुम लोग शैतान की पूजा कर रहे हो लेकिन हमें सच्चाई के साथ खड़े होने की जरूरत है.Loading… एक घटना के बारे में वह बताती हैं कि एक रात बिशप एक नन के कमरे में जबरदस्ती घुस गए और उसे पकड़कर किस किया. उन्होंने शराब पी रखी थी. इस घटना के बाद नन ने अपनी मां को पूरी बात बताई और चर्च के अधिकारियों से लिखित शिकायत की. लेकिन पादरी को फिर से अधिकार सौंप दिए गए.एक नन बताती है कि जब वह नई और किशोर थीं तो एक बड़ा पादरी कैथोलिक केंद्र में आया, वह गोवा से था. उस पादरी ने उसे पकड़ लिया और उसे किस करने लगा. उसने छाती पर भी जबरदस्ती किस किया.इस नन ने हिम्मत नहीं हारी और अपनी सीनियर नन से कहा कि और किशोरियों को इस पादरी के पास न भेजें. लेकिन इस नन ने कोई आधिकारिक शिकायत नहीं की.इससे पहले बिशप फ्रेंको मुलक्कल पर भी एक नन ने रेप का आरोप लगाया था और इस मामले में खूब खबरें चर्चा में रही थीं. 2018 की गर्मियों में एक वरिष्ठ नन ने कहा था कि लाटिन डायोसीज ऑफ जालंधर के प्रमुख फ्रेंको मुलक्कल ने उसका कई बार रेप किया. हालांकि बिशप का कहना था कि नन उन्हें ब्लैकमेल कर रही है. जिससे उसे अच्छी जॉब मिल सके.मुलक्कल ने कहा कि मैं दर्दनाक पीड़ा से गुजर रहा हूं. उन्हें 3 हफ्ते की जेल हुई थी और वह अक्टूबर में जमानत पर बाहर आए हैं. केरल में कई लोग मुलक्कल को शहीद के रूप में देखते हैं.एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Source: News18 News

Related posts