बुलंदशहर: इंस्पेक्टर को गोली मारने के आरोपी जीतू फौजी के भाई ने सीएम योगी से मांगी मदद

मेरे भाई के खिलाफ साजिश
धर्मेंद्र का कहना है कि उनके भाई को किसी साजिश के तहत फंसाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि वो पुलिस और प्रशासन को जीतू की बेगुनाही के सबूत देंगे। जीतू पर इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की गोली मारकर हत्या का आरोप है। सुबोध 3 दिंसबर को कथित तौर पर गौकशी के बाद जमा भीड़ को शान्त करने की कोशिश कर रहे थे, जब उनकी हत्या हो गई थी।

एसटीएफ टीम ने जीतू को गिरफ्तार किया
जीतू फौजी को एसटीएफ की टीम ने शुक्रवार को जम्मू कश्मीर से गिरफ्तार किया है। बवाल के अगले ही दिन जाकर उसने ड्यूटी ज्वाइन की थी। शुक्रवार को टीम जम्मू से हवाई जहाज से फौजी को दिल्ली लाई। बवाल का एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें एक युवक को इंस्पेक्टर की लाश के पास से कुछ उठाते हुए दिखाया गया है। जिसकी शिनाख्त महाव गांव के जीतू फौजी के रूप में हुई। जिसके बाद पुलिस ने उसकी तलाश शुरू की।
बुलंदशहर हिंसा: इंस्पेक्टर सुबोध कुमार को गोली मारने वाला फौजी जीतू गिरफ्तार

कारगिल में तैनात है जीतू फौजी
पुलिस के मुताबिक, जितेंद्र उर्फ जीतू फौजी भारतीय सेना में जम्मू के कारगिल में तैनात था और बुलंदशहर हिंसा के दौरान छुट्टी लेकर अपने घर आया हुआ था। महाब गांव के रहने वाले जीतू की पहचान इसी मामले में पकड़े गए तीन अन्य आरोपियों चमन, देवेंद्र और आशीष ने भी की। उनका दावा है कि जीतू ने ही इंस्पेक्टर सुबोध को गोली मारी थी। जीतू पर इंस्पेक्टर सुबोध की पिस्टल और मोबाइल लूटने का भी आरोप है। बुलंदशहर हिंसा के तुरंत बाद जीतू जम्मू चला गया और ड्यूटी ज्वॉइन कर ली। पुलिस जीतू से पूछताछ कर रही है।
बुलंदशहर हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की मौत पर चार दिन बाद टूटी सीएम योगी की चुप्‍पी, कहा- ये एक केवल हादसा है

Source: OneIndia Hindi

Related posts