भोपाल में ईवीएम स्ट्रॉगरूम में एक घंटे तक सीसीटीवी कैमरे बंद, चुनाव आयोग ने भी मानी गलती

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश चुनाव के भोपाल में जहां चुनाव के बाद तमाम ईवीएम मशीनों को स्ट्रॉग रूम में रखा गया था, वहां के सीसीटीवी कैमरे में खराबी को चुनाव आयोग ने स्वीकार किया है। चुनाव आयोग ने इस बात को माना है कि शुक्रवार को बिजली जाने की वजह से यहां के सीसीटीवी कैमरे तकरीबन एक घंटे के लिए बंद हो गए थे। सीसीटीवी कैमरे बंद हो जाने की वजह से तमाम विपक्षी दलों ने ईवीएम मशीनों के साथ छेड़खानी का आरोप लगाया है।

होगी कार्रवाईचुनाव आयोग ने कहा कि वह उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई करेगी जिनकी वजह से सागर में ईवीएम मशीनों को देने में दो दिन की देरी की, जबकि 28 नवंबर को चुनाव के तुरंत बाद ईवीएम मशीनों को जमा करना होता है। शनिवार को चुनाव आयोग की ओर से एक बयान जारी करके कहा गया कि भोपाल के डीएम से हमे इस बात की रिपोर्ट मिली है कि बिजली जाने की वजह से स्ट्रॉगरूम में 30 नवंबर को सुबह 8.19 बजे से 9.35 बजे तक सीसीटीवी कैमरा और एलईडी डिस्प्ले बंद हो गया गए थे। जिसके बाद यहां इनवर्टर और जेनरेटर लगाया गयाथा जिससे की बिजली की व्यवस्था को फिर से बहाल किया जा सके।

अतिरिक्त सुरक्षाकर्मी तैनातचुनाव आयोग ने बताया कि यहां पर लगे दो सीसीटीवी कैमरा काम नहीं कर रहे हैं और इस वजह से यहां पर दो अतिरिक्त सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है ताकि किसी भी तरह की अनहोनी को टाला जा सके। इसके साथ ही यहां सुरक्षाकर्मी एक लॉगबुक पर यहां होने वाली हर गतिविधि की जानकारी दर्ज कर रहे हैं, यहां तमाम ईवीएम मशीनें पूरी तरह से सुरक्षित हैं। कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि पुरानी जेल स्थित स्ट्रॉगरूम का एक दरवाजा खुला है, जिसका संज्ञान लेते हुए आयोग ने बंद करवा दिया है।

कांग्रेस सांसद ने लगाया था आरोपकांग्रेस सांसद सांसद विवेद तनकहा ने इस बात की शिकायत की थी कि भोपाल के स्ट्रॉगरूम में लाइट चली जाने की वजह से सीसीटीवी कैमरे बंद हो गए थे। उन्होंने इस बात का भी दावा किया है कि चुनाव के बाद बिना नंबर प्लेट की स्कूल बस को सागर में ईवीएम मशीने लाने के लिए प्रयोग किया गया था। चुनाव आयोग ने ईवीएम मशीनों के साथ छेड़खानी के तमाम आरोपों को सिरे से खारिज किया है। हालांकि आयोग ने इस बात को स्वीकार किया है कि अधिकारियों के स्तर पर कुछ चूक हुई है, लेकिन ईवीएम के साथ छेड़खानी नहीं की गई है।

इसे भी पढ़ें- ‘मैं चोरों से डरने वाला नहीं हूं, मैं माफी नहीं मांगूंगा’- कैलाश विजयवर्गीय

जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें – निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!
Source: OneIndia Hindi

Related posts