काउंटिंग से पहले फिर बजा EVM का ढोल, अहमद पटेल ने चुनाव आयोग को दिए 4 सुझाव

नई दिल्ली। चुनाव परिणाम से पहले ईवीएम एक बार फिर चर्चा में है। कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल ने शनिवार को चुनाव आयोग से मुलाकात कर मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में काउंटिंग प्रक्रिया के दौरान स्ट्रॉन्ग रूम में ईवीएम सिक्योरिटी को लेकर चिंता व्यक्त की है। चुनाव आयोग से मिलने के बाद मीडिया से बात करते हुए कांग्रेस नेता और एआईसीसी के छत्तीसगढ़ प्रभारी पीएल पुणिया ने कहा कि राज्य में धमतारी विधानसभा सीट में संदिग्ध गतिविधियों की सूचना दी जा रही है।

उन्होंने दावा किया कि स्ट्रॉन्ग रूम के आसपास लैपटॉप और मोबाइल फोन के साथ संदिग्ध लोगों को देखा गया था, जहां मतदान के बाद ईवीएम मशीनें रखी गई थी। पुनिया ने छत्तीसगढ़ के रायपुर में इस प्रकार की गतिविधियों की बात कही है, जिसके बाद कांग्रेस ने चुनाव आयोग जाकर शिकायत दर्ज की है।

इस बीच कांग्रेस के राज्यसभा सांसद अहमद पटेल ने चुनाव आयोग को एक चिट्ठी लिखकर ईवीएम के बारे में चार सुझाव दिए हैं। पटेल ने कहा, स्ट्रॉन्ग रूम में ईवीएम मशीनें भेजे जाने के दौरान सभी राजनीतिक पार्टियों के प्रतिनिधियों को साथ भेजे जाने की अनुमति मिले। अपने दूसरे में सुझाव में पटेल ने कहा कि योग्य मतदाताओं से पोस्टल बैलेट प्राप्त होने पर क्रॉस चेक करें। पटेल ने आगे अपने सुझाव मे कहा कि 3 जिलों- राजनंदगांव, कोंडागांव और बिलासपुर में शीर्ष अधिकारियों के आचरण की समीक्षा करें और अपने चौथे सुझाव में कांग्रेस नेता ने कहा कि पहले दौर के पूरा होने के बाद ही गणना के दूसरे दौर की शुरुआत करें

जीवनसंगी की तलाश है? भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें – निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!
Source: OneIndia Hindi

Related posts